ताज़ा खबर
 

Odisha: मछली पकड़ने गया था बुजुर्ग किसान, 8 फुट लंबे मगरमच्छ ने किया हमला, ऐसे बची जान

ओड़ीसा के किसान ने इस घटना को 'मौत के मुंह' से बचकर निकलने वाला अनुभव बताया है।

Author केंद्रपाड़ा | Published on: September 16, 2019 3:21 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस )

मगरमच्छ का नाम सुनते ही लोगों के हाथ-पैर फूलने लगते हैं। यह एक ऐसा जानवर है, जो एक बार अपने जबड़े में किसी को पकड़ लेता है तो उसकी जान ले लेता है। हालांकि, ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में एक बुजुर्ग किसान ने अपनी हिम्मत से इस खतरनाक जानवर के हमले को नाकाम कर दिया। साथ ही, अपनी जान भी बचा ली। वन विभाग के एक अधिकारी ने ने बताया कि 58 वर्षीय भजकृष्ण प्रधान महाकलपाड़ा के जलाकाना गांव में रविवार (15 सितंबर) को नदी में मछली पकड़ रहा था। उस दौरान 8 फुट लंबे विशालकाय मगरमच्छ ने उस पर हमला कर दिया।

अपनी सूझबूझ से बचा किसान:  बताया जा रहा है कि मगरमच्छ ने भजकृष्ण के दाएं हाथ को घायल कर दिया। इसके बावजूद किसान ने फुर्ती दिखाई और बांस से मगरमच्छ की आंख पर हमला कर दिया, जिसके बाद विशालकाय जानवर उन्हें छोड़कर पानी में चला गया।

National Hindi News, 16 September 2019 Top Updates LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

किसान बोला- मौत के मुंह से निकला: किसान ने इस घटना को ‘मौत के मुंह’ से बचकर निकलने वाला अनुभव बताया। महाकलपाड़ा के वन क्षेत्र के अधिकारी बिजॉय कुमार परीडा के मुताबिक, सुरक्षित जंगली क्षेत्रों के जलाशयों में मछली पकड़ने के लिए जाल डालना खतरनाक है, क्योंकि इनमें मगरमच्छों रहते हैं।

 

केंद्रपाड़ा जिले के लड़के को मगरमच्छ से बचाने के लिए पीएम ने दिया था वीरता पुरस्कार: बता दें कि कुछ इसी प्रकार पहले केंद्रपाड़ा जिले के एक गांव मेंअपने चाचा को मगरमच्छ के हमले से बचाने वाले एक नाबालिग लड़के को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए चुना गया था। कंदिरा गांव में सरकारी बासुदेबपुर विद्यापीठ हाई स्कूल की 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले 15 साल के सीतू मलिक को पीएम मोदी ने  23 जनवरी 2019 को वीरता पुरस्कार दिया था। दरअसल सीतू  के चाचा विनोद मलिक को मगरमच्छ ने अपने जबड़े में जकड़ रखा था। सीतू ने मगरमच्छ के मुंह पर प्रहार कर उन्हें बचा लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ममता बनर्जी ने मोदी से मिलने का वक्त मांगा, लोकसभा चुनाव से पहले कहा था- उन्हें नहीं मानती अपना PM
2 सीएम योगी आदित्यनाथ को प्रसपा-सपा ने दिखाए काले गुब्बारे, पुलिस से भी भिड़ गए कार्यकर्ता
3 गाजियाबाद मेयर का ऐलान- डॉगी पालना है तो 5 हजार रुपए का लाइसेंस लो, पार्क में गंदगी करने पर भी जुर्माना