ताज़ा खबर
 

मुंबई में फिर हो सकता है बड़ा आंदोलन, ठाणे से पहुंच रहे हैं 30 हजार किसान

महाराष्ट्र में किसानों ने एक बार फिर से आंदोलन का रास्ता अपनाया है। आदिवासी और किसान लोक संघर्ष समिति के बैनर तले करीब 30000 हजार किसान अपनी मांगों को लेकर ठाणे पहुँच चुके है। इसके बाद किसान हुए मुंबई की ओर रवाना होंंगे।

किसानों का प्रदर्शन फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

महाराष्ट्र में किसानों ने एक बार फिर से आंदोलन का रास्ता अपनाया है। आदिवासी और किसान लोक संघर्ष समिति के बैनर तले करीब 30000 हजार किसान अपनी मांगों को लेकर ठाणे पहुँच चुके है। इसके बाद किसान मुंबई की ओर कूच करेंगे। लोड शेडिंग, वनाधिकार कानून लागू रखने, न्यूनतम समर्थन मूल्य आदि मांगों को लेकर किसान सड़क पर है। किसान रैली का समापन 22 नवंबर को आजाद मैदान में होगा।

महाराष्ट्र में करीब 30000 किसान एक बार फिर से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते हुए सड़क पर उतर आये है। किसानो का ये मार्च मुंबई के नजदीक ठाणे पहुँच गया है, इसके बाद ये मुंबई के लिए रवाना होगा। फिर ये मुलुंद से निकलकर आजाद मैदान तक जायेगा जहाँ 22 नवंबर को इसका समापन होगा। वनाधिकार कानून लागू करने, सूखे से राहत, न्यूनतन समर्थन मूल्य, लोड शेडिंग की समस्या, स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने जैसी मांगों के साथ ये किसान सड़कों पर उतरे हुए हैं। इसके पहले भी मार्च के महीने में 25 हजार किसान प्रदर्शन करते हुए नासिक से मुंबई पहुंचे थे।

इस प्रदर्शन को लेकर किसानों का कहना है कि पिछले प्रदर्शन को करीब 9 महीने बीत गए हैं, लेकिन सरकार द्वारा किसानों को दिए गए कई आश्वासन अब तक पूरे नहीं हो सके हैं। किसानों के इस आंदोलन को कई सामाजिक कार्यकर्तों और किसान आंदोलनों से जुड़े लोगों का साथ मिला है। किसान संगठन का कहना है कि अगर महाराष्ट्र सरकार की ओर से कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया जाता है तो आंदोलन को और आगे बढ़ाया जा सकता है। गौरतलब है कि मार्च महीने में किसानों के प्रदर्शन पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि सरकार उनके मुद्दों को सुलझाएगी और उनकी सरकार किसानों की मांगों को लेकर सकारात्मक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App