ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र: मंत्रियों के नाम लिख कुएं में कूद गया किसान, पानी की कमी के चलते दे दी जान

मामले के जांच अधिकारी एस.वी. होले ने कहा, ‘उसके शव के पास मिले एक नोट के मुताबिक पवार ने इसलिए आत्महत्या की क्योंकि पास की सिंचाई नहर में पर्याप्त पानी नहीं था। अपुष्ट नोट में महाराष्ट्र सरकार के दो मंत्रियों का भी जिक्र है, जिन्हें उसने कथित तौर पर नहर में पानी नहीं छोड़े जाने के लिये जिम्मेदार ठहराया है।'

प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

महाराष्ट्र में कर्ज और पानी की समस्या के चलते किसानों का जान देना किसी से छिपा नहीं है। आए दिन वहां से ऐसी खबरें आती रहती हैं। एक ताजा मामले में पानी की कमी से परेशान एक किसान ने कुएं में कूद कर अपनी जान दे दी। ये घटना पुणे के ग्रामीण की इंदापुर तहसील की है। यहां इंदापुर तहसील के करदनवाड़ी गांव के 48 वर्षीय किसान वसंत सोपान पवार ने रविवार को सुसाइड कर लिया। वसंत सोपान आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट छोड़ गए। इस सुसाइड नोट में उन्होंने राज्य के कुछ मंत्रियों के नाम लिखे हैं। किसान का शव और ये सुसाइड नोट रविवार की सुबह करीब 11 बजे उनके घर के पास स्थित कुएं से बरामद किया गया।

पुलिस को वहां से जो सूइसाइड नोट मिला है, उसमें किसान ने आत्महत्या का कारण सिंचाई के लिए नहर में पानी न छोड़ा जाना बताया है और पानी न छोड़ने के लिए उसने राज्य के दो मंत्रियों को जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस ने सूइसाइड नोट में मंत्रियों के नाम होने की पुष्टि की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुणे ग्रामीण पुलिस के वालचंदनगर पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा, ‘जिले की इंदापुर तहसील के करदनवाड़ी गांव के किसान वसंत सोपान पवार (48) का शव रविवार की सुबह करीब 11 बजे उनके घर के पास स्थित कुएं से बरामद किया गया।’ मामले के जांच अधिकारी एस.वी. होले ने कहा, ‘उसके शव के पास मिले एक नोट के मुताबिक पवार ने इसलिए आत्महत्या की क्योंकि पास की सिंचाई नहर में पर्याप्त पानी नहीं था। अपुष्ट नोट में महाराष्ट्र सरकार के दो मंत्रियों का भी जिक्र है, जिन्हें उसने कथित तौर पर नहर में पानी नहीं छोड़े जाने के लिये जिम्मेदार ठहराया है।’ अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शिवसेना नेता सचिन सावंत की गोली मारकर हत्या
2 निगम के 1672 स्कूलों में से सिर्फ 114 में सीसीटीवी, ऐसा है बच्चों की सुरक्षा का हाल
3 दिल्ली मेरी दिल्ली: विपश्यना की राह
यह पढ़ा क्या?
X