ताज़ा खबर
 

भाजपा की रैली में कृषि बिलों का समर्थन कर रहे किसान की मौत, बेटे ने लगाया हत्या का आरोप

किसान के बेटे ने बताया कि कृषि बिल विरोधी कुछ प्रदर्शनकारी उनके पिता की हत्या में शामिल हैं।

haryana news ambala newsकिसान भरत सिंह (72) की मौत के मामले में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 341, 149 और 120बी के तहत केस दर्ज किया है। (ANI)

हरियाणा के अंबाला में नारायणगढ़ स्थित कृषि बिलों के समर्थन में निकाली जा रही भाजपा की ‘ट्रैक्टर रैली’ में एक किसान की मौत हो गई। राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा ने कानूनों के बारे में किसानों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए ये रैली आयोजित की थी। ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व केंद्रीय राज्य मंत्री और अंबाला के सांसद रतन लाल कटारिया और कुरुक्षेत्र के सांसद नायब सिंह सैनी कर रहे थे।

किसान भरत सिंह (72) की मौत के मामले में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 341, 149 और 120बी के तहत केस दर्ज किया है। नारायणगढ़ के डीएसपी अनिल कुमार ने बताया कि मृतक के बेटे की शिकायत के बाद इन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। किसान के बेटे ने बताया कि कृषि बिल विरोधी कुछ प्रदर्शनकारी उनके पिता की हत्या में शामिल हैं। मृतक के अन्य परिजनों ने कहा कि किसानों के रूप में आए कांग्रेसियों ने ट्रैक्टरों में तोड़फोड़ की थी और भरत सिंह के साथ मारपीट की जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई।

इधर भाजपा द्वारा निकाली गई ‘ट्रैक्टर रैली’ के दौरान भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने भी तीन कृषि बिलों के विरोध में प्रदर्शन किया। भाजपा ने यह रैली इन कानूनों के बारे में किसानों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए आयोजित की थी। स्थानीय भाजपा नेताओं ने भी रैली में भाग लिया। जब बुधवार दोपहर में रैली शुरू हुई ,बीकेयू के सदस्य कार्यक्रम स्थल पर पहुंच कर केंद्र सरकार और कृषि कानूनों के खिलाफ नारे लगाने लगे।

Weather Forecast Today Live Updates

उन्होंने विरोध के दौरान भाजपा नेताओं को काले झंडे भी दिखाए। यह प्रदर्शन लगभग दो घंटे तक जारी रहा। पुलिस को प्रदर्शनकारियों पर नियंत्रण करने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा क्योंकि उनमें से कुछ रैली शुरु ही नहीं होने दे रहे थे। हालांकि बाद में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मनाने में सफलता हासिल की और भाजपा की रैली को हरी झंडी दी गई।

इधर बीकेयू नेता मलकीत सिंह ने कहा कि वे कृषि कानूनों के खिलाफ अपना विरोध तब तक जारी रखेंगे जब तक सरकार इन्हें वापस नहीं ले लेती। नारायणगढ़ में सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री कटारिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी दल अपने राजनीतिक हितों के लिए किसानों को नए कृषि कानूनों को लेकर गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये कानून किसानों के लाभ के लिए हैं और न्यूनतम समर्थन मूल्य, मंडी प्रणाली और फसल की खरीद पहले की तरह जारी रहेगी। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 12 साल के बच्चे से चुनाव में शांति भंग का खतरा? बिहार प्रशासन ने थमाया नोटिस, जानें- क्या है मामला
2 बिहार चुनाव: जेल से लड़ रहे राजद के अनंत सिंह पर 38 केस, पांच साल में 240% बढ़ी संपत्ति, जम कर खरीदे गहने और गाड़ियां
IPL 2020 LIVE
X