ताज़ा खबर
 

Faridabad: प्रोफेसर पर छात्राओं के यौन उत्पीड़न का आरोप, सुरजेवाला बोले- बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ सिर्फ जुमला

हरियाणा में सत्तारूढ़ बीजेपी पर तंज कसते हुए सुरजेवाला ने कहा कि ऐसी घटनाएं दिखाती हैं कि, "बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ" हरियाणा में महज एक 'जुमला' था।

प्रतीकात्मक चित्र फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

हरियाणा के फरीदाबाद में छात्रा से यौन शोषण के मामले में उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर समेत तीन कर्मचारियों को निलंबित करने का मामला सामने आया है। निलंबित किए गए आरोपियों के खिलाफ लगे आरोपों की जांच के लिए एक कमेटी का गठन भी कर दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शिकायकर्ता का आरोप है कि आरोपी प्रवेश के समय पहले तो छात्राओं से दोस्ती करते फिर बाद में परीक्षा में मदद कराने के बहाने उन पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालते थे। मामले में कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

National Hindi News, 17 May 2019 LIVE Updates: दिन भर की खबरों के लिए क्लिक करें 

क्या है मामला: हरियाणा के उच्च शिक्षा विभाग ने एक छात्रा के यौन शोषण के आरोप में फरीदाबाद जिले के एक सरकारी कॉलेज के एक एसोसिएट प्रोफेसर समेत तीन कर्मचारियों को गुरुवार (17 मई) को निलंबित कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि एक जूनियर लैब अटेंडेंट और एक चपरासी को भी निलंबित किया गया है और तीनों आरोपियों के खिलाफ लगे आरोपों की पड़ताल करने के लिए समिति गठित की गई है। अधिकारियों ने बताया कि शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि आरोपी प्रवेश के वक्त छात्राओं से दोस्ती करते थे और बाद में उन लड़कियों को निशाना बनाते थे जिन्हें दोबारा परीक्षा देनी पड़ती थी और उनको हर संभव मदद देने का वादा करते थे।

ऐसे हुआ खुलासा: शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि आरोपी परीक्षा में मदद कराने के बदले उन पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालते थे। अधिकारियों ने बताया कि यह मामला तब प्रकाश में आया जब शिकायतकर्ता ने लैबोरेटरी असिस्टेंट के साथ हुई अपनी बातचीत रिकॉर्ड कर ली और घटना को कॉलेज के प्रधानाचार्य को सुनाया।

घटना के बाद बोले सुरजेवाला: बता दें कि इस घटना के बाद से ही लोगों में भारी आक्रोश है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं कैथल से विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उन्होंने ट्वीट किया, “पीड़ित छात्राओं को न्याय मिलना सुनिश्चित हो।” सत्तारूढ़ बीजेपी पर तंज कसते हुए सुरजेवाला ने कहा कि ऐसी घटनाएं दिखाती हैं कि, “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” हरियाणा में महज एक ‘जुमला’ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App