ताज़ा खबर
 

साढ़े छह करोड़ खर्च कर गोरखनाथ मंदिर को नया रूप दे रहे सीएम योगी, झील बनेगी, लेजर शो भी होगा

गोरखनाथ मंदिर के भीतर के झील को विशेष रूप से तैयार किया जा रहा है। पहले यहां सिर्फ बोटिंग होती थी, लेकिन अब इसमें विशेष वाटर स्क्रीन लगाई जा रही है। इस वाटर स्क्रीन में साउंड और लेजर प्रोजेक्टर लगा होगा।

गोरखनाथ मंदिर (Photo: www.gorakhnathmandir.in)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर के लोग अब जल्द ही प्रसिद्ध गोरखपुर मंदिर परिसर के अंदर वर्ल्ड क्लास वाटर और लेजर शो देख सकेंगे। यूपी पर्यटन विभाग केंद्र सरकार के सहयोग से गोरखपुर मंदिर का सौदर्यीकरण करेगा। इस प्रसिद्ध गोरखनाथ मठ, जिसके महंत योगी आदित्यनाथ हैं, के सौंदर्यीकरण पर करीब 6.5 करोड़ की लागत आएगी। प्रोजेक्ट के माध्यम से मंदिर के अंदर लाइट, साउंड और लेजर शो विकसित किया जा रहा है। कृत्रिम झील और उसकी लाइटिंग के लिए विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। मशीनों और म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट को स्थापित करने के लिए फ्रांस से विशेष उपकरणों और इंजीनियरों को बुलाया गया है। इसके अलावा, पूरे मंदिर में इस तरह से लाइटिंग की जा रही है कि ये रात में हवाई जहाज से भी दिखाई देगा। यहां भारतीय पौराणिक और सांस्कृतिक ऐतिहासिक कहानियों सुनाई जाएंगी।

इंडिया टुडे के अनुसार, गोरखनाथ मंदिर के भीतर की झील को विशेष रूप से तैयार किया जा रहा है। पहले यहां सिर्फ बोटिंग होती थी, लेकिन अब इसमें विशेष वाटर स्क्रीन लगाई जा रही है। इस वाटर स्क्रीन  में साउंड और लेजर प्रोजेक्टर लगा होगा। इसकी सहायता से वाटर शो दिखाया जाएगा। म्यूजिक परिसर में बजने वाले म्यूजिक और लाइट्स के लिए विशेष प्रोगाम तैयार किया गया है। अगले महीने से आम लोगों के लिए वाटर और लेजर शो की शुरूआत हो सकती है। इंजीनियर तय समय में कार्य पूरा करने के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं। इस पूरे मामले पर उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा, “न केवल गोरखनाथ मंदिर बल्कि राज्य में अन्य महत्वपूर्ण स्थानों को भी बेहतर पर्यटन के दृष्टिकोण से बेहतर बनाया जा रहा है।”

वहीं, दूसरी ओर कांग्रस विधायक दीपक सिंह ने इसे पैसे की बर्बादी बताया। उन्होंने कहा, “राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी रूचि के लिए जनता के पैसे का दुरुपयोग कर रहे हैं। वह जानते हैं कि अगली बार वे मुख्यमंत्री बनने वाले नहीं हैं। अपने सुरक्षित भविष्य के लिए उन्हें फिर से गोरखनाथ मठ में ही आना है।” वहीं, भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी कहते हैं, “भाजपा महत्वपूर्ण इमारतों के संरक्षण के लिए काम कर रही है। ये इमारतें हमारी धरोहर है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App