ताज़ा खबर
 

नामचीन कोचिंग सेंटर ‘मयंक ट्यूटोरियल्स’ के मालिक का मर्डर, Job से निकाले गए कर्मचारी ने क्लास में छात्रों के सामने ही गोद डाला

गणेश चेंबूर ईस्ट स्थित पंत नगर में संचालित हो रहे कोचिंग सेंटर पहुंचा और मयंक के साथ कुछ मिनटों की बहस के बाद उसे धारदार हथियार से गोद डाला। गणेश ने इस वारदात को पूरी क्लास के सामने अंजाम दिया।

Author मुंबई | Updated: September 23, 2019 3:10 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (एक्सप्रेस फाइल)

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई (Mumbai) के घाटकोपर ईस्ट (Ghatkoper East) में रविवार (22 सितंबर) को एक नामचीन कोचिंग संस्थान के मालिक की सरेआम हत्या कर दी गई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक हत्यारा कोई और नहीं बल्कि उसी कोचिंग संस्थान का एक पूर्व कर्मचारी था जिसे करीब महीनेभर पहले कथित तौर पर वहां से निकाला जा चुका था। मृतक की पहचान मयंक ट्यूटोरियल्स (Mayank Tutorials) के मालिक मयंक के रूप में हुई है, वहीं आरोपी की पहचान गणेश के रूप में हुई।

पूरी क्लास के सामने हुई वारदातः मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने इस घटना की जानकारी देते हुए बताया, ‘गणेश को महीनेभर पहले ही नौकरी से निकाला गया था। रविवार (22 सितंबर) को गणेश चेंबूर ईस्ट स्थित पंत नगर में संचालित हो रहे कोचिंग सेंटर पहुंचा और मयंक के साथ कुछ मिनटों की बहस के बाद उसे धारदार हथियार से गोद डाला। गणेश ने इस वारदात को पूरी क्लास के सामने अंजाम दिया।’

हमले में एक लड़की भी घायलः मयंक ने पलटवार की कोशिश की लेकिन हमला इतना तेज था कि वह गिर पड़ा और चंद पलों में ही उसकी मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस हमले में एक लड़की भी घायल हो गई है। घाटकोपर ईस्ट पुलिस स्टेशन में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। घटना रविवार को करीब साढ़े 6 बजे घाटकोपर में शिवशक्ति हाइट्स में हुई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इससे पहले मयंक और गणेश में सैलरी और अन्य मुद्दों को लेकर विवाद हुआ था। कथित तौर पर गणेश को पिछले महीने की सैलरी नहीं मिली थी।

आरोपी का पुलिस हिरासत में हुआ इलाजः बता दें कि मयंक ट्यूटोरियल्स मुंबई में बेहद प्रसिद्ध है। शहर में इसकी सात शाखाएं हैं जिनका हेड ऑफिस चेंबूर में है। इस झड़प के दौरान गणेश को भी चोट लगी थी। पुलिस ने उसे कोचिंग क्लास से ही गिरफ्तार किया और फिर उसका इलाज कराया। एक पुलिस अधिकारी ने अपने बयान में बताया कि कोचिंग सेंटर से जुड़े लोगों के बयान दर्ज किए जाएंगे, उसी के आधार पर मामले की जांच आगे बढ़ाई जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories