ताज़ा खबर
 

मुरादाबाद: बेटी की सगाई में बीफ बनाने की मांगी इजाजत, यूपी पुलिस ने कहा- सिर्फ चिकन से काम चलाओ

22 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया था कि अवैध बूचड़खानों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करे।

पुलिस से बीफ बनाने की इजाजत मांगने वाले सरफराज। ( फोटो: ANI )

उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बननके बाद से ही अवैध बूचड़खानों पर प्रशासन सख्त हो गया है। सरकार की सख्ती का असर धीरे-धीरे बीफ खाने वालों पर भी पड़ रहा है। ताजा मामला प्रदेश के मुरादाबाद जिले का है। यहां एक मुस्लिम परिवार में सगाई का कार्यक्रम होना था प्रेदश मे बीफ और बूचड़खानों के हालात देख परिवार ने पुलिस से समारोह में बीफ बनाने की अनुमति मांगी। लेकिन पुलिस ने मांसाहारी के नाम पर सिर्फ चिकन बनाने की सलाह देते हुए बीफ परोसने को मना कर दिया।

दरअसल मुरादाबाद के ही रहने वाले सरफराज नाम के एक शख्स के घर में उसकी बेटी की सगाई होनी है। सरफराज को लगा कि ऐसे ही बीफ को लेकर इतना हो हल्ला है तो क्यों ना पुलिस से लिखित आदेश के बाद ही बीफ बनाया जाए। सरफराज के मुताबिक पुलिस ने उसकी मांग को खारिज कर दिया। बकौल सरफराज पुलिस ने उससे कहा कि फंक्शन में किसी तरह के बीफ का सेवन नहीं हो सकता है, अगर आपको मेहमाननवाजी करनी है तो सिर्फ चिकन मीट से कीजिए।

आपको बता दें कि 22 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया था कि अवैध बूचड़खानों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करे। यूपी पुलिस ने भी फुर्ती दिखाते हुए अवैध रूप से चल रहे बूचड़खानों पर ताले जड़ दिये। योगी सरकार ने गो तस्करी और गोवध पर भी पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया। विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने प्रदेश की जनता से यह वायदा किया था। बीजेपी नेता मजहर अब्बास ने मीट विक्रेताओं से अपील की थी कि जो सही हैं, उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि केवल अवैध दुकानें और बूचड़खाने सरकार की कार्रवाई के दायरे में आ रहे हैं।

VIDEO: योगी के CM बनते ही एक्शन में आया एंटी रोमियो स्कवैड; लेकिन कई जगह हुआ कानून का उल्लंघन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App