ताज़ा खबर
 

’30 साल पुरानी कार चलाते हैं क्या?’, जब लापता वायुसेना अफसर के पिता ने पूर्व रक्षामंत्री से पूछ लिया था कड़ा सवाल

जुलाई 2016 में भी इंडियन एयर फोर्स का AN-32 एयरक्राफ्ट बंगाल की खाड़ी में लापता हो गया था। इस विमान में फ्लाइट लेफ्टिनेंट कुणाल समेत 29 लोग सवार थे। काफी जांच के बाद भारतीय वायु सेना ने उन सभी को मृत घोषित कर दिया था।

Flight Lieutenant Kunal Barpatte फ्लाइट लेफ्टिनेंट कुणाल फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस

भारतीय वायुसेना का AN-32 एयरक्राफ्ट सोमवार (3 जून) को असम के जोरहाट से लापता हुआ था, जिसका करीब 48 घंटे बाद भी पता नहीं चला है। इस हादसे के बाद वह सवाल एक बार फिर खड़ा हो गया है, जो फ्लाइंग लेफ्टिनेंट कुणाल बारपट्टे के परिजनों ने 3 साल पहले पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर से सवाल पूछा था। उन्होंने पर्रिकर से पूछा था कि क्या आप 30 साल पुरानी कार चलाते हैं? 2016 में भी एक AN-32 विमान लापता हो गया था। उस विमान में फ्लाइट लेफ्टिनेंट कुणाल बारपट्टे समेत 29 लोग सवार थे। काफी जांच के बाद भारतीय वायु सेना ने सभी 29 लोगों को मृत घोषित कर दिया था।
2016 में ऐसे हुआ था हादसा: हर सप्ताह चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर जाने वाला भारतीय वायु सेना का AN-32 एयरक्राफ्ट 22 जुलाई 2016 की सुबह लापता हो गया था। 27 वर्षीय फ्लाइट लेफ्टिनेंट कुणाल बारपट्टे इस विमान में फ्लाइट नेविगेटर थे। वायु सेना ने बंगाल की खाड़ी में काफी बड़ा ऑपरेशन चलाया था। इसके लिए नेवी और कोस्ट गार्ड की भी मदद ली गई थी, लेकिन इस विमान में सवार सभी 29 लोगों का कुछ पता नहीं चला। पुणे के पिंपरी चिंचवड इलाके के निगड़ी में रहने वाले फ्लाइट लेफ्टिनेंट कुणाल इंडियन एयर फोर्स की दक्षिणी एयर कमांड के अंतर्गत आने वाली 33 स्क्वाड्रन के नेविगेटिंग ऑफिसर थे।

National Hindi News, 05 June 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरें जानने के लिए यहां क्लिक करें

कुणाल के पिता को अब तक नहीं मिले उनके सवालों के जवाब: कुणाल के पिता राजेंद्र बारपट्टे (62) का कहना है कि उन्होंने 1980 के दशक में भारतीय वायु सेना में शामिल रूस निर्मित विमानों की उम्र के बारे में जानकारी मांगी थी, लेकिन अब तक उनके सवालों के जवाब नहीं मिले हैं। वहीं, 26 अगस्त 2016 को बारपट्टे परिवार को भारतीय वायु सेना के सहायक उप-प्रमुख के कार्यालय से एक पत्र मिला था, जिसमें उनसे कुणाल का निधन घोषित करने को लेकर मंजूरी मांगी गई थी। राजेंद्र और उनकी पत्नी समेत 6 अन्य एयर फोर्स अफसरों, जो AN-32 हादसे का शिकार बने थे, के परिजनों ने इस पत्र पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया था।

Bihar News Today, 05 June 2019 Live Updates: अमित शाह ने गिरिराज सिंह को फोन कर फटकारा, कहा- इफ्तार पर टिप्पणी जैसी बयानबाजी न करें दोबारा

15 सितंबर को मृत घोषित कर दिए गए थे सभी 29 सवार: भारतीय वायु सेना ने 15 सितंबर 2016 को उस AN-32 में सवार सभी 29 लोगों को मृत घोषित कर दिया था। हालांकि, भारतीय वायु सेना ने स्पष्ट किया था कि यह पत्र प्रशासनिक प्रक्रिया का एक हिस्सा है और लापता लोगों की तलाश जारी रहेगी।

मनोहर पर्रिकर से पूछा था यह सवाल: कुणाल के पिता राजेंद्र पुणे के केंद्रीय सड़क परिवहन संस्थान से रिटायर्ड इंजीनियर हैं। उनका कहना था कि भारतीय वायु सेना पिछले 35 साल से एक जैसे विमान इस्तेमाल कर रही है। उनका दावा है कि खराब विमानों को सर्विस से हटा दिया गया है, लेकिन इन विमानों में हुए हादसों और उनमें खोने वाली कीमती जिंदगियों के लिए जिम्मेदार कौन है? राजेंद्र ने बताया कि जब हमारी मुलाकात पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर से हुई तो हमने उनसे पूछा था, ‘‘क्या आप 30 साल पुरानी कार चलाते हैं? अगर नहीं तो इन विमान को लगातार उड़ाकर कीमती जीवन खतरे में क्यों डाल रहे हैं?’’

एयर फोर्स के जवाब से संतुष्ट नहीं हुए परिजन: राजेंद्र बारपट्टे ने बताया कि 2016 में हादसा होने के बाद हमने भारतीय वायु सेना से कई सवाल पूछे थे। ये सवाल इस तरह थे। एयरक्राफ्ट के साथ हकीकत में हुआ क्या था? प्लेन की ओवरऑल कंडीशन कैसी थी? रडार से स्पष्ट संकेत मिलने के बाद क्या बचाव अभियान शुरू करने में देरी हुई? क्या इमरजेंसी लोकेटर बेकन फेल हो गया था? भारतीय वायु सेना ने कई महीने बाद इन सवालों के जवाब दिए, लेकिन वे रटे-रटाए जवाब थे, जिनसे हम संतुष्ट नहीं हुए। इस संबंध में हमें एक ईमेल भी मिला था, जिसमें पूछा गया था कि क्या हम उनके जवाबों से संतुष्ट हैं? उसका मतलब यह था कि वे जानना चाहते हैं कि हम सवाल पूछना कब बंद करेंगे? सोमवार को एक और AN-32 एयरक्राफ्ट लापता होने के बाद मैं इस मुद्दे को एक बार फिर उठाना चाहता हूं। राजनीतिज्ञों और सैन्य नेताओं को इन सवालों के जवाब देने होंगे।

Next Stories
1 बंगाल में बीजेपी ने फिर रचा इतिहास, पहली बार नगर पालिका के शासन पर कब्जा
2 महाराष्ट्र: ईसाई धर्मगुरुओं पर FIR, 13 साल के बच्चे के रेप में ऐक्शन न लेने का आरोप
3 कम्प्यूटर बाबा ने नर्मदा परिक्रमा के लिए मध्य प्रदेश सरकार से मांगा हेलिकॉप्टर, बोले- आधुनिक अस्त्र-शस्त्र भी चाहिए
ये पढ़ा क्या?
X