ताज़ा खबर
 

Ranchi : जिस मंगेतर से रेप के आरोप में मिलने वाली थी सजा, उसी से पुलिस थाने में की शादी

झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले में रहने वाले शाहनवाज गुल (27) के सामने मंगलवार को सिर्फ दो ही विकल्प बचे थे। पहला मंगेतर से रेप के आरोप में जेल जाओ या शादी कर लो। ऐसे में शाहनवाज ने अपनी मंगेतर गुल बानो (27) से निकाह करना ही ज्यादा उचित समझा।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले में रहने वाले शाहनवाज गुल (27) के सामने मंगलवार को सिर्फ दो ही विकल्प बचे थे। पहला मंगेतर से रेप के आरोप में जेल जाओ या शादी कर लो। ऐसे में शाहनवाज ने अपनी मंगेतर गुल बानो (27) से निकाह करना ही ज्यादा उचित समझा। मंगलवार को कोवाली पुलिस स्टेशन में दोनों की शादी हो गई।

शिकायत मिली तो थाने बुलाए गए दोनों परिवार : कोवाली थाना प्रभारी दिवाकर दुबे ने बताया, ‘‘शाहनवाज और गुल बानो करीब दो साल से रिलेशनशिप में थे। इस दौरान गुल बानो प्रेग्नेंट हो गई। उसने शाहनवाज को मामले की जानकारी दी और जल्द से जल्द शादी करने के लिए कहा, लेकिन युवक अपने वादे से मुकरने लगा। वहीं युवक के परिवार वालों ने भी शादी करने से इनकार कर दिया। ऐसे में युवती के परिवार ने पुलिस से शिकायत कर दी। पुलिस ने समन जारी करके दोनों परिवारों को थाने बुला लिया।’’

पुलिस ने दिखाया जेल जाने का डर : पुलिस ने शाहनवाज को बताया कि अगर वह शादी से इनकार करता है तो उसे रेप के आरोप में जेल जाना पड़ सकता है। इसके बाद दोनों परिवार शादी करने के लिए राजी हो गए। ऐसे में पुलिस ने तुरंत गाजे-बाजे और मौलवी का इंतजाम कराया। इसके बाद थाने में ही शादी की शहनाई बजी और मौलवी मोहम्मद बशीर ने शाहनवाज व गुल बानो को निकाह पढ़वा दिया।

लड़के के परिवार वाले भी अपने वादे से मुकर गए थे : गुल बानो के घरवालों ने बताया कि शाहनवाज के इनकार की जानकारी मिलने के बाद वे हैरत में आ गए थे। उन्होंने युवक के परिवार वालों से बात की, लेकिन वे भी शादी करने के लिए तैयार नहीं हुए। ऐसे में वे पुलिस के पास चले गए।

निकाह के बाद घरवालों को भी समझाया गया : एसएचओ दुबे ने बताया कि शादी के बाद दूल्हा-दुल्हन के साथ-साथ उनके घरवालों की भी काउंसलिंग की गई। साथ ही, उन्हें मिलजुलकर रहने की सलाह भी दी गई। पुलिस के पास मौजूद कागजात के मुताबिक, शाहनवाज और गुल बानो दोनों का जन्म 1991 में हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App