ताज़ा खबर
 

पंजाब:14 साल पहले पिता के लिए कर्ज को नहीं चुका पाया, किसान ने मां के साथ की सुसाइड

किसान दर्शन सिंह ने साल 2002 में तेजा सिंह नाम के एक कमिशन एजेंट से करीब 47 बीघा जमीन गिरवी रख कर 1.10 लाख रुपए का कर्ज लिया था। लेकिन सालों बीत जाने के बाद भी वें कर्ज नहीं चुका पाए।

Author लुधियाना | Updated: April 27, 2016 1:16 PM
बलजीत के छोटे भाई ने कहा है कि जब तक आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती वह अपनी मां और भाई का अंतिम संस्कार नहीं करेगा।

पंजाब के बरनाला जिले में एक किसान और उसकी मां ने मंगलवार को जहर पीकर जान दे दी। सालों पहले लिए गए कर्ज को ना चुका पाने के कारण किसान से घर और खेत खाली करने के लिए कहा गया था जिस कारण किसान ने अपनी मां के साथ खुदकुशी कर ली। 32 साल के बलजीत ने 60 साल की अपनी मां बलवीर कौर के साथ कीटनाशक पीकर खुदकुशी कर ली।

बलजीत के पिता दर्शन सिंह ने साल 2002 में करीब 47 बीघा जमीन एक कमीशन एजेंट तेजा सिंह के यहां गिरवी रख कर 1.10 लाख रुपए का कर्ज लिया था। सालों बीत जाने के बावजूद भी यह कर्ज चुकाया नहीं जा सका। जमीन का मालिकाना हक लेने के लिए तेजा ने सिविल कोर्ट में केस दर्ज किया और 2007 में केस जीत गया। इसी बीच दर्शन सिंह की 2012 में मौत हो गई। तेजा ने जमीन का हक नहीं मिलने पर हाई कोर्ट में कोर्ट की अवमानना का केस दायर कर दिया। मंगलवार को तेजा पुलिस, लोकल प्रशासन और कोर्ट का ऑर्डर लेकर बलजीत के घर गया था।

बलजीत को घर से बाहर करने की बात पर दोनों में हल्की हाथापाई भी हुई थी। विवाद ना सुलझता देख बलजीत घर की छत पर गया और कीटनाशक पी गया। उसके बाद उसकी मां ने भी कीटनाशक पी लिया। दोनों को आनन-फानन में सिविल हॉस्पिटल भर्ती कराया गया जहां से उन्हें दयानंद मेडिकल कॉलेज लुधियाना भेज दिया गया। लुधियाना ले जाते समय रास्ते में दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने अब इस मामले में पांच लोगों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का मामले में केस दर्ज किया है। इन पांच लोगों में तेजा सिंह, उसका बेटा जसप्रीत सिंह और मन्ना सिंह उसका एक रिश्तेदार और उसका एक दोस्त शामिल हैं। हालांकि तेजा सिंह स्वयं जिला अस्पताल में भर्ती हो गया है उसके बेटे का कहना है कि हाथापाई के दौरान उसे भी चोटें आईं हैं।

बलजीत के छोटे भाई ने कहा है कि जब तक आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती वह अपनी मां और भाई का अंतिम संस्कार नहीं करेगा। इसी बीच भारतीय किसान यूनियन ने भी इस मामले में पीड़ित के भाई को मुआवजा देने की मांग की है। वहीं बरनाला के सब डीविजन मजिस्ट्रेट अमरवीर सिंह सि्द्धू ने कहा है जो हादसा हुआ है इस बारे में हाई कोर्ट को अगली सुनवाई में रिपोर्ट दी जाएगी। कोर्ट में इस केस की अगली सुनवाई 6 मई को होनी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X