ताज़ा खबर
 

पूर्व सांसद प्रिया दत्त ने कहा- कांग्रेस स्वप्रतिरक्षी बीमारी से ग्रस्त

पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता प्रिया दत्त ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी स्वप्रतिरक्षी बीमारी से ग्रस्त है।

Author March 16, 2017 11:58 AM
प्रिया दत्त ने कहा राहुल गांधी अच्छे लीडर हैं, वह अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं।

पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता प्रिया दत्त ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी स्वप्रतिरक्षी बीमारी से ग्रस्त है। दत्त ने ट्वीट कर कहा, “कांग्रेस ने बार-बार यह दिखाया है कि वह स्वप्रतिरक्षी बीमारी से ग्रस्त है। कांग्रेस ही कांग्रेस को खत्म कर रही है। हमें इसे फिर से स्वस्थ बनाने के लिए काम करना चाहिए।” समाचार चैनल एनडीटीवी से बात करते हुए दत्त ने कहा कि अभूतपूर्व संकट के दौरान राहुल गांधी की भूमिका में कटौती नहीं करनी चाहिए।

दत्त ने एनडीटीवी से कहा, “वह अच्चे नेता हैं। वह अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं। वे पार्टी को एक खास दिशा में ले जाना चाहते हैं, (लेकिन) लंबे समय से यह काम नहीं कर रहा है।” उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस को कड़ी मेहनत करने की जरूरत है, “क्योंकि हम अपनी गलतियों को नहीं सुधार पा रहे हैं।”


समाचार चैनल से बात करते हुए दत्त ने राहुल गांधी की तारीफ की और कहा कि , “राहुल अच्छे लीडर हैं, वह अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं. उन्होंने पार्टी को नई दिशा देने की काफी कोशिश की है लेकिन लंबे समय से पार्टी को इसका फायदा नहीं मिल रहा है।” नतीजों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब से पांच राज्यों के नतीजे सामने आए हैं। तभी से पार्टी में ‘आत्मविश्लेषण’ किए जाने की बात दबी जुबान से कही जा रही है। हालांकि प्रत्येक चुनाव में हार मिलने के बाद इस तरह की चर्चाएं होती हैं।

वहीं पार्टी की हार पर बोलते हुए प्रिया ने कहा कि, “निश्चित रूप से हमें 2014 से ही काम करना शुरू करना चाहिए था। हम अपनी गलतियों से सबक नहीं ले रहे हैं। जब प्रिया से पूछा गया कि क्या कांग्रेस पार्टी के खराब प्रदर्शन के लिए राहुल गांधी को जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए? इसका जवाब देते हुए प्रिया ने कहा- हां , लेकिन राहुल गांधी या किसी एक व्यक्ति को बदलने से पार्टी की दशा नहीं सुधरने वाली”

बता दें कांग्रेस ने राहुल के नेतृत्व में यूपी चुनाव लड़ा जिसमें पार्टी को बुरी हार का सामना करना पड़ा। अब तक का ये पार्टी का सबसे खराब प्रदर्शन है। कांग्रेस ने सपा के साथ समझौते के तहत 105 सीटों पर यूपी विधानसभा का चुनाव लड़ा था। साथ ही कुछेक सीटों पर गठबंधन के बावजूद सपा और कांग्रेस दोनों के उम्‍मीदवार खड़े थे। बावजूद इसके कांग्रेस केवल सात सीटों को जीत पाई।

शत्रुघ्न सिन्हा ने चेतन भगत को ट्वीटर पर लताड़ा; आडवाणी की राहुल गांधी से की थी तुलना

राहुल गांधी का मजाक उड़ाने की कोशिश में फल ही बदल गए पीएम नरेंद्र मोदी, अनानास की जगह नारियल का कर बैठे जिक्र

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App