ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र में मराठाओं पर नहीं लागू होगा सवर्णों का EWS कोटा, यह है वजह

महाराष्ट्र की फडणवीस सरकार का कहना है कि महाराष्ट्र में मराठा समुदाय को केंद्र सरकार के सवर्ण जातियों को आर्थिक आधार पर 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा।

देवेन्द्र फडणवीस, फोटो सोर्स- ट्विटर (CMOMaharashtra)

महाराष्ट्र की फडणवीस सरकार का कहना है कि महाराष्ट्र में मराठा समुदाय को केंद्र सरकार के सवर्ण जातियों को आर्थिक आधार पर 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। इस संबंध में सीएम फडणवीस ने मंगलवार को एक नोटिफिकेशन भी जारी किया। हालांकि, सीएम ने मराठाओं को आरक्षण का लाभ न देने की वजह भी बताई है।

सीएम देवेंद्र फडणवीस प्रशासन ने मंगलवार को महाराष्ट्र में एक नोटिफिकेशन जारी किया। इसमें बताया गया कि आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को मिलने वाला आरक्षण महाराष्ट्र में लागू होगा, लेकिन इसका लाभ मराठा समुदाय के लोगों को नहीं मिलेगा।

चुनाव के पहले लागू किया गया था आरक्षण : बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने आगामी लोकसभा चुनाव में अपर कास्ट को लुभाने के मकसद से आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को शिक्षा और सरकारी नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण दिया था। यह आरक्षण अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और ओबीसी को मिले 50 प्रतिशत आरक्षण से अलग है।

नोटिफिकेशन में ये हैं शर्तें : केंद्र के प्रस्ताव को महाराष्ट्र में लागू करने के लिए राज्य मंत्रिमंडल से मंजूरी मिल चुकी है। वहीं, फडणवीस सरकार ने मंगलवार को 10 प्रतिशत कोटा को लेकर शर्तें तय कीं। सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन में मराठा समुदाय को इस आरक्षण से अलग कर दिया गया।

इस वजह से लिया गया फैसला : बता दें कि मराठा समुदाय के लोग काफी समय से आरक्षण की मांग कर रहे थे। ऐसे में राज्य सरकार ने 30 नवंबर 2018 को विधायिका में बदलाव करते हुए उन्हें सरकारी नौकरी और शिक्षा में 16 प्रतिशत का आरक्षण दिया था। इसके तहत मराठा समुदाय को सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्ग में शामिल किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App