ताज़ा खबर
 

प्रगति मैदान में अनुराग ठाकुर ने किया ईवी-एक्सपो का उद्घाटन

सांसद और बीसीसीआइ के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने प्रगति मैदान में शुक्रवार को ईवी-एक्सपो अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

Author नई दिल्ली | Updated: December 24, 2016 3:21 AM

सांसद और बीसीसीआइ के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने प्रगति मैदान में शुक्रवार को ईवी-एक्सपो अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इसका उद्देश्य ई-रिक्शा और ई-कार को प्रोत्साहित करना है जो अंतिम छोर तक कनेक्टिविटी देने वाले पर्यावरण के अनुकूल परिवहन समाधान हैं। ये वाहन यात्रियों की सुरक्षा व सुविधा में वृद्धि करते हैं और भारत में हजारों लोगों को प्रभावित करने वाले वाहन-जनित प्रदूषण का असरदार हल साबित होंगे। इस मौके पर अनुराग ठाकुर ने कहा कि पर्यावरण में सुधार करने का यह सार्थक प्रयास है और पिछले तीन सालों से जब से यह प्रयास शुरू हुआ है, पर्यावरण में सुधार हुआ है। इसकी उपयोगिता हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में और ज्यादा है।

ईवी-ऐक्सपो सरकार के नैशनल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन प्लान के अनुसार है। इसका लक्ष्य 2020 तक 60-70 लाख इलेक्ट्रिक/हाइब्रिड वाहनों को सड़क पर उतारना है। साथ ही टेक्नोलॉजी के स्वदेशीकरण के निश्चित स्तर को हासिल किया जाएगा ताकि भारत ई-वाहन सैगमेंट में वैश्विक लीडर बने तथा 2030 तक भारत को 100 फीसद इलेक्ट्रिक वाहनों वाला राष्ट्र बनाया जा सके। सरकार ने यह भी फैसला किया है कि गरीब, पिछड़े व अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों को ई-रिक्शा खरीदने के लिए दीन दयाल अंत्योदय योजना के अंतर्गत मात्र तीन फीसद सालाना ब्याज पर कर्ज मुहैया कराया जाएगा।
कौशल विकास व अन्य तरीकों से आजीविका के अवसरों में वृद्धि करके सरकार ने शहरी व ग्रामीण गरीबों के उत्थान के लिए बहुत सी व्यापक योजनाएं घोषित की हैं। अगले दो-तीन सालों में कौशल विकास मंत्रालय दो करोड़ चालकों को ई-रिक्शा चलाने का प्रशिक्षण प्रदान करेगा जिससे दो करोड़ परिवारों को आजीविका प्राप्त हो सकेगी। सरकार का लक्ष्य 2020 तक 7.5 करोड़ साइकल रिक्शा के स्थान ई-रिक्शा उतारना है। ईवी-ऐक्सपो के संयोजक और इलेक्ट्रिक रिक्शा मैन्युफैक्चरर्स ऐसोसिएशन के संस्थापक सदस्य राजीव अरोड़ा ने कहा कि भारत में ई-वाहनों (ई-रिक्शा व ई-कार्ट) की तीव्र प्रगति ने सरकार व अन्य पक्षों को उत्साहित किया कि देश में ई-वाहन उद्योग को नियमित करने के लिए मजबूत फ्रेमवर्क तैयार किया जाए। भारत में बनने वाली स्मार्ट सिटीज़ में अंतिम छोर तक संवहनीय परिवहन समाधान मुहैया कराने के लिए सरकार ई-रिक्शा व ई-कार्ट को बढ़ावा दे रही है। इन पर्यावरण अनुकूल परिवहन साधनों से मुसाफिरों की सुरक्षा व सुविधा में इजाफा होगा और भारत प्रदूषण मुक्तदेश बनेगा।

सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय की ई-रिक्शा समिति के चेयरमैन अनुज शर्मा ने कहा कि हम मौजूदा सरकार और विशेषकर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के प्रगतिशील नीतियों को अस्तित्व में लाए जिससे ई-वाहन उद्योग को और साथ ही इंटेलीजेंट ग्रीन ट्रांस्पोर्ट सॉल्यूशंस को प्रोत्साहन मिला है। ईवी-ऐक्सपो तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी है जो हॉल नंबर-14, प्रगति मैदान, नई दिल्ली में 23 से 25 दिसंबर 2016 तक चलेगी। इसमें पर्यावरण के अनुकूल 2/3/4 व्हीलर इलेक्ट्रिक वाहनों, पुर्जों, यात्रियों व माल के परिवहन में सेवाओं व उत्पादों में हुई नवीनतम तकनीकी प्रगति को प्रदर्शित किया जाएगा। सोनी ई-व्हीकल्स ने अपनी इलेक्ट्रिक कार और सोनी लिथियम बैटरी को सर्वप्रथम ईवी-ऐक्सपो में प्रदर्शित किया। ईवी-ऐक्सपो में 200 से ज्यादा भारतीय व अंतराष्ट्रीय ई-वाहन कंपनियां अपने तकनीकी रूप से उन्नत, प्रदूषण मुक्त, ई-रिक्शा, ई-कार्ट व ई-कार ईवी-ऐक्सपो में प्रदर्शित कर रही हैं। चीन, जमर्नी, स्वीडन, जापान व अन्य देशों के 500 से अधिक व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल ईवी-ऐक्सपो में आने की पुष्टि कर चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस और राहुल फुंके हुए कारतूस हैं: नकवी
2 नोटबंदी महाघोटाला, जनता को लूटने का घोटाला: केजरीवाल
3 राजनीतिक दलों को चंदे में मिली कर छूट पर लगे रोक: गोविंदाचार्य
यह पढ़ा क्या?
X