scorecardresearch

एमपी: निजी थिएटर, करोड़ों की प्रॉपर्टी, आय से 650 गुना ज्यादा संपत्ति…जबलपुर के RTO के घर EOW की छापेमारी

Madhya pradesh eow raid: देर रात तक चली छापेमारी में पता चला कि आरटीओ संतोष पाल की अपनी नौकरी के दौरान अपने वेतन की तुलना में व्यय एवं अर्जित संपत्ति 650 प्रतिशत है।

एमपी: निजी थिएटर, करोड़ों की प्रॉपर्टी, आय से 650 गुना ज्यादा संपत्ति…जबलपुर के RTO के घर EOW की छापेमारी
संतोष सिंह पाल ने घर में निजी थियेटर तक बना रखा है(फोटो सोर्स: ANI)।

Madhya pradesh eow raid: मध्य प्रदेश के जबलपुर में आरटीओ संतोष पाल सिंह के घर हुई छापेमारी में हैरान कर देने वाली जानकारी सामने आई है। बता दें कि जबलपुर में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी संतोष पाल के आवास पर आय से अधिक संपत्ति के मामले में देर रात छापेमारी की गई थी। जिसमें आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) द्वारा 16 लाख रुपये नकद और आभूषण बरामद किए गए।

चौंकाने वाली बात यह है कि बरामद हुई राशि संतोष पाल के नाम संपत्ति का केवल एक छोटा सा हिस्सा है। जांच में अधिकारियों को उनका घर किसी महल से कम नहीं नजर आया। जांच में संतोष पाल के घर से उनकी आमदनी से 650 गुना ज्‍यादा की संपत्‍ति मिलने के संकेत हैं।

News18 हिंदी की एक रिपोर्ट के अनुसार, सिंह के पास 300 करोड़ रुपये की संपत्ति है और उनकी कीमत उनके वेतन से 650% अधिक है। ईओडब्ल्यू की टीम ने शताब्दीपुरम कॉलोनी स्थित सिंह के एक आलीशान बंगले पर छापा मारा जहां वो अपनी पत्नी के साथ रह रहे थे। जानकारी के मुताबिक सिंह के पास इसके अलावा भी छह घर हैं और वो एक फार्महाउस के भी मालिक हैं। इसके अलावा उनके पास एक स्कॉर्पियो, एक पल्सर बाइक और एक बुलेट जैसी गाड़ियां भी हैं।

ड्राइंग रुम से लेकर बाथरुम तक घर में आलीशान व्यवस्था के बीत आरटीओ ने हर जगह काली कमाई का इस्तेमाल किया था। मनोरंजन के लिए संतोष सिंह पाल ने घर में निजी थियेटर तक बना रखा है। थियेटर में आरामदायक लाल सीटें लगाई हैं। बता दें कि सिंह पिछले चार साल से जबलपुर में तैनात हैं। इसके अलावा उनके और भी कई रिश्तेदार आरटीओ विभाग से जुड़े कामों में शामिल हैं।

ईओडब्ल्यू एसपी देवेन्द्र प्रताप सिंह ने जानकारी दी कि आरटीओ संतोष पाल एवं उनकी लिपिक पत्नी रेखा पाल पास बेतहाशा संपत्ति की शिकायतें सामने आई थीं। इस बारे में निरीक्षक स्वर्णजीत सिंह धामी द्वारा सत्यापन कराया गया था। देर रात तक चली छापेमारी में पता चला कि आरटीओ संतोष पाल की अपनी नौकरी के दौरान अपने वेतन की तुलना में व्यय एवं अर्जित संपत्ति 650 प्रतिशत है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट