ताज़ा खबर
 

ग्यारहवीं के छात्र ने फिरौती के लिए अगवा बच्ची की हत्या की

अंबाला छावनी क्षेत्र के बोह गांव में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाले 16 वर्षीय एक लड़के ने फिरौती के लिए पांच साल की एक लड़की का अपहरण करने के बाद पानी की टंकी में डुबा कर उसकी हत्या कर दी।
Author चंडीगढ़ | December 8, 2017 00:41 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अंबाला छावनी क्षेत्र के बोह गांव में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाले 16 वर्षीय एक लड़के ने फिरौती के लिए पांच साल की एक लड़की का अपहरण करने के बाद पानी की टंकी में डुबा कर उसकी हत्या कर दी। अंबाला के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिषेक जोरवाल ने बताया कि अपहर्ता ने अगवा बच्ची के एक पड़ोसी के पास फोन कर बच्ची के परिजनों से बात की और बीस लाख रुपए की फिरौती मांगी। इस काल को ट्रेस कर पुलिस ने आरोपी किशोर को बुधवार देर रात करीब एक बजे गिरफ्तार कर लिया। यह घर लड़की के पिता ने आरोपी के एक रिश्तेदार को किराए पर दिया था।

आरोपी गौरव लखनऊ का रहने वाला है और पंद्रह दिन पहले ही अपने जीजा के पास अंबाला आया था। उसके जीजा बच्ची वैष्णवी के पिता की दुकान पर काम करते हैं और इन दिनों अपने लखनऊ गए हुए थे। गौरव अपने जीजा के पास आता रहता है और इस बार वह आया तो बच्ची के पिता ने ही यहां के एसडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ग्यारहवीं कक्षा में उसका दाखिला कराया था। आरोपी ने बच्ची को अगवा करने से कुछ ही देर पहले उसी के घर जाकर खाना खाया था। बाद में बच्ची की हत्या करने के बाद वह उसके घर आया और आराम से उसकी मां के हाथ से खाना खाया। बच्ची वैष्णवी के पिता अमित सूद छावनी में एक फोटोस्टेट मशीन और प्रोजेक्टर इत्यादि का काम करते हैं। उनके छोटे भाई का घर से 40 मीटर की दूरी पर ही जनरल स्टोर है। शाम करीब सवा चार बजे बच्ची दुकान पर अपने चाचा को चाय देने गई और मां मीनाक्षी सूद से कहा कि वह आज दो घंटे देर से दूध पीएगी और उसके बाद दादी के साथ मंदिर में कथा सुनने के बाद वापस घर बाकी पेज 8 पर आएगी। करीब सवा पांच बजे तक बच्ची घर वापस नहीं आई तो खोजबीन शुरू की गई लेकिन कोई पता नहीं लगा।

इस बीच, सूद के पड़ोसी पवन आष्ठा को सबसे पहले एक नंबर से मिस कॉल आई। उसके बाद थोड़ी देर में दोबारा फोन आया तो फोन करने वाले ने बच्ची को अगवा करने की बात कही। इसके बाद आष्ठा के ही फोन पर दो और काल आए जिसमें आरोपी ने बच्ची की चाची से बात की और 20 लाख की फिरौती मांगी। इसके बाद परिजनों ने थाने में शिकायत दी।
पुलिस ने जब फोन की लोकेशन की जांच की तो वह बगल के ही एक घर का निकला। पुलिस ने उस घर की तलाश की पर बच्ची वहां नहीं मिलने के बाद उसे खाली हाथ लौटना पड़ा। पर पुलिस ने जब दोबारा छानबीन की तो बच्ची का शव घर में रखे कूलर में मिला। पूछताछ में आरोपी गौरव ने बताया कि उसे मालूम हो गया था कि पुलिस सतर्क हो चुकी है और बच्ची शोर मचा सकती है। इसलिए उसने बच्ची की हत्या करने का फैसला कर लिया। उसने वैष्णवी को घर में बनी पानी की टंकी में डुबाकर मारा और शव को कूलर में छिपा दिया।
पुलिस के मुताबिक किशोर ने अपने किए पर कोई अफसोस जाहिर नहीं किया। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि उसने एक फिल्म देखी थी जिसके बाद उसने आसानी से पैसा बनाने के लिए एक योजना बनाई। जब पुलिस लड़के के घर पहुंची तब वह अपने लैपटॉप पर काम कर रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.