ताज़ा खबर
 

‘आइटम’ वाले बयान पर 48 घंटे में दें सफाई, चुनाव आयोग ने कमलनाथ को भेजा नोटिस

निर्वाचन आयोग के नोटिस में कहा गया कि उसे कमलनाथ के खिलाफ भाजपा से एक शिकायत मिली है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी इसका संदर्भ दिया है। भाजपा ने डबरा सीट पर इमरती देवी को प्रत्याशी बनाया है।

Author नई दिल्ली | October 21, 2020 8:48 PM
election commission, ECI, notice to kamal nathभाजपा ने चुनाव आयोग में कमलनाथ के खिलाफ शिकायत की थी। (फाइल फोटो)

निर्वाचन आयोग ने भाजपा उम्मीदवार और मंत्री इमरती देवी के बारे में ‘आइटम’ टिप्पणी को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ को बुधवार को नोटिस जारी किया। आयोग ने कहा कि उनकी टिप्पणी विधानसभा उपचुनाव के कारण राज्य में लागू आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।

नोटिस में कहा गया है, ‘‘इसलिए आयोग आपको अपने उपरोक्त बयान के लिए यह नोटिस मिलने के 48 घंटे के भीतर स्पष्टीकरण देने का मौका दे रहा है। ऐसा नहीं होने पर निर्वाचन आयोग इस संबंध में कदम उठाएगा।’’ मध्य प्रदेश में डबरा सीट पर तीन नवंबर को होने वाले उपचुनाव के लिए प्रचार के दौरान एक सभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा था कि कांग्रेस के प्रत्याशी ‘सामान्य व्यक्ति’ हैं जबकि उनकी प्रतिद्वंद्वी ‘आइटम’ हैं।

भाजपा ने डबरा सीट पर इमरती देवी को प्रत्याशी बनाया है। उनकी इस टिप्पणी पर विरोध शुरू हो गया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा नेताओं ने कमलनाथ के खिलाफ प्रदर्शन किया। राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी कमलनाथ से उनकी टिप्पणी के लिए स्पष्टीकरण मांगा।

कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने अपनी टिप्पणी के लिए खेद जताया था और कहा था कि उन्होंने कुछ भी असम्मानजनक नहीं कहा है । निर्वाचन आयोग के नोटिस में कहा गया कि उसे कमलनाथ के खिलाफ भाजपा से एक शिकायत मिली है तथा राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी इसका संदर्भ दिया है।

नोटिस में कहा गया, ‘‘आयोग ने ग्वालियर के डबरा में 18 अक्टूबर को कमलनाथ द्वारा दिए गए भाषण के वीडियो क्लिप और टिप्पणी के विवरण पर गौर किया है और इस बयान को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना है। ’’ निर्वाचन आयोग की तरफ से नोटिस के बाद भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने जिस तरह से एक सभा में मध्य प्रदेश सरकार की कैबिनेट मंत्री इमरती देवी जी का सार्वजनिक रूप से अपमान किया था, उसे कांग्रेस की दलित विरोधी सोच स्पष्ट हो गई थी।

आज चुनाव आयोग ने इस संबंध में कमलनाथ जी को नोटिस जारी कर जो जवाब तलब किया है उसके बाद मेरी मांग है कि चुनाव आयोग ऐसे महिला विरोधी बयानों को गंभीरता से लें। साथ ही सख्त कार्रवाई करें जिससे आगे किसी की हमारी मातृ शक्ति का अपमान करने की हिम्मत ना हो।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यदि आप ही जांचकर्ता, वकील और जज बन जाओगे तो हमारी क्या जरूरत है, SSR केस में रिपब्लिक टीवी को हाईकोर्ट की फटकार
2 Bihar Election: …जब बीच सड़क में गाना बजते ही नाचने लगे विधायक, समर्थक भी लगे झूमने
3 बिहार चुनाव: तुमको वोट नहीं देना है मत दो लेकिन…, सभा में लालू जिंदाबाद के नारे पर भड़के सीएम नीतीश
ये पढ़ा क्या?
X