ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: बकरीद के दिन भी घाटी में हिंसा, पुलिस पर बरसाए पत्‍थर, लहराए ISIS-PAK के झंडे

ये पूरा घटनाक्रम इदगाह इलाके में बकरीद की नमाज के बाद देखने को मिला। हालांकि, उस दौरान सुरक्षाबलों के जवानों ने इन्हें तितर-बितर करने का प्रयास किया, मगर वे पत्थरबाजी करने से बाज न आए।

नमाज अता करने के बाद सड़कों पर यूं पाकिस्तान और आतंकी संगठन ISIS के झंरे लहराते दिखे थे पत्थरबाज।

जम्मू और कश्मीर में बकरीद (22 अगस्त) के दिन भी पत्थरबाज नापाक हरकतों से बाज न आए।घाटी में कई जगह त्यौहार पर हिंसा और बवाल देखने को मिला। अनंतनाग में सुबह कुछ युवाओं ने जहां एक पुलिस वाहन पर पत्थर बरसाए। वहीं, श्रीनगर में वे सड़कों पर पाकिस्तान और कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) के झंडे लहराकर जश्न मनाते हुए नजर आए। प्रदर्शनकारी उस दौरान जोर-जोर से पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे।

ये पूरा घटनाक्रम इदगाह इलाके में बकरीद की नमाज के बाद देखने को मिला। हालांकि, उस दौरान सुरक्षाबलों के जवानों ने इन्हें तितर-बितर करने का प्रयास किया, मगर वे पत्थरबाजी करने से बाज न आए। वहीं, कुलगाम के जजरीपोरा इलाके में एक पुलिसकर्मी की जान चली गई। घटना तब हुई, जब वह बकरीद की नमाज अता कर के जा रहे थे। अचानक आतंकी ने उन पर पीछे से हमला बोल दिया।

VIDEO: देखें हुई पुलिस वाहन पर पत्थरबाजी

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, हालात हाथ से बाहर जाते देख सुरक्षाबलों को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। घटना के विरोध में पत्थरबाजों ने पाकिस्तानी और आईएसआईएस के झंडे लहराए थे। वे उस दौरान वहां- पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। पर्व पर इन हालात को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा व्यवस्था से संबंधित अलर्ट जारी किया गया है।

बता दें कि मई में यहां पत्थरबाजी के दौरान तमिलनाडु के चेन्नई शहर के एक पर्यटक की जान चली गई थी। उससे कुछ दिन पहले कर्नाटक के बेंगलुरू शहर के जिला जज भी परिवार से साथ घाटी में छुट्टियां मनाने आए थे। वह भी पत्थरबाजी का शिकार हो गए थे।

शोपियां जिले के जावूरा गांव में उसी बीच बच्चों से भरी एक स्कूल बस भी पत्थरबाजों के निशाने पर आ गई थी। घाटी में दिन-प्रतिदिन बढ़ती पत्थरबाजी की घटनाएं यहां के प्रशासन और सुरक्षाबलों के लिए चिंता का सबब बनती जा रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App