ताज़ा खबर
 

सर्वे: महाराष्ट्र में 53 फीसदी पुरुष और 42 फीसदी महिलाएं नहीं है शादीशुदा, रोजगार और शिक्षा से बदल रहा है सामाजिक तानाबाना

महाराष्ट्र के आर्थिक सर्वे 2018 में रोजगार और शिक्षा के कारण सामाजिक तानेबाने की बदलती तस्वीर सामने आई है। काम के लिए पलायन और शिक्षा के कारण अब राज्य में लोग काफी देर से शादी कर रहे हैं।

ग्राणीण क्षेत्रों की आबादी भी कृषि छोड़कर रोजगार की लिए शहरों में बस रही है। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में आर्थिक सर्वे 2018 में सामाजिक तानेबाने में बदलाव की एक अलग ही तस्वीर उभर कर सामने आई है। राज्य में रोजगार और शिक्षा को लेकर पलायन काफी बढ़ गया है। सर्वे के अनुसार राज्य में 53.5 फीसदी पुरुष और 42.5 फीसदी महिलाओं ने शादी नहीं की है।

यह आंकड़ें राष्ट्रीय औसत से बहुत थोड़े ही कम हैं। राष्ट्रीय स्तर पर अविवाहित पुरुष 54.5 फीसदी और अविवाहित महिलाओं का प्रतिशत 44.8 है। समाजशास्त्री और जनसंख्या विज्ञानियों का कहना है कि शादी में देरी के पीछे का मुख्य कारण काम और शिक्षा के लिए पलायन है। युवाओं का देश होने के कारण आधुनिक दौर में भारत में शादी की उम्र भी बढ़ी है।

मिरर नाउ की खबर के अनुसार पिछले सप्ताह जारी आर्थिक सर्वे में राज्य के सामाजिक आर्थिक स्थिति के बारे में बात की गई है। महाराष्ट्र में जनसंख्या के कॉलम में विधवा/तलाकशुदा/अलग रहने वाले लोगों में पुरुषों का प्रतिशत 1.5 और महिलाओं का प्रतिशत 6.4 है। जबकि राष्ट्रीय औसत के अनुसार ऐसे पुरुष 1.7 फीसदी और महिलाएं 5.8 फीसदी है। यानी की महाराष्ट्र में विधवा/तलाक शुदा/ अलग रहने वाली महिलाओं की संख्या राष्ट्रीय औसत से अधिक है।

ये आंकड़े ओरआरजीआई के सैंपल रजिस्ट्रेशन सिस्टम 2016 से लिए गए हैं। गोखले इंस्टीट्यूट ऑफ पॉलिटिक्स एंड इकोनॉमिक्स की रिटायर्ड प्रोफेसर डॉ. संजीवनी मुले कहती हैं सामान्य तौर पर महाराष्ट्र में शादी नहीं करने वाले लोगों का प्रतिशत इतना अधिक नहीं होता है।

मुले के अनुसार काम और शिक्षा के लिए माइग्रेशन के कारण इन लोगों ने अभी तक शादी नहीं की है। शहरों के साथ ही गांवों में भी अंतर्राज्यीय पलायन बढ़ा है। 1990 के दशक के बाद युवा पीढ़ी अपने जीवन के निर्णय लेने को लेकर अधिक मुखर हुई है। लोग खेती को छोड़ कर विभिन्न उद्योगों और सेवा क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई के समाजशास्त्र के प्रोफेसर डॉ. बालकृष्ण भोंसले कहते हैं कि कम आय और नौकरी की अनिश्चितता के कारण लोग शादी नहीं करना चाहते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Rajasthan: सोशल मीडिया पर कमेंट करना पड़ा भारी, सड़क पर भिड़े कांग्रेसी, एक-दूसरे को लाठियों से पीटा
2 BJP के सहयोगी दल के नेता ने पत्रकारों को धमकाया, कहा- सवाल पूछा तो टुकड़े-टुकड़े करा दूंगा, गंदी-गंदी गालियां भी दीं
3 मायावती ने सपा पर बोला हमला, कहा- चुनाव में हार के बाद अखिलेश ने मुझसे नहीं की बात, उपचुनाव में BSP दिखाएगी ताकत
ये पढ़ा क्या?
X