ताज़ा खबर
 

DUSU में क्या कहेगा 6% कम मतदान!

माम कयासों को दरकिनार करते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव इस बार फीका रहा।

Author नई दिल्ली | September 10, 2016 12:51 AM

तमाम कयासों को दरकिनार करते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव इस बार फीका रहा। रात दस बजे मुख्य चुनाव अधिकारी डीएस रावत ने कहा- करीब 36.9 फीसद मतदान दर्ज हुआ। पिछले साल की तुलना में इस छह फीसद कम मतदान हुआ। 2015 में डूसू में 43.30 फीसद मदतान हुआ था। 2014 में 43 फीसद के करीब छात्रों ने वोट दिए थे। बहरहाल मतदान शांतिपूर्ण निपटा। रामजस में हुई धक्कामुक्की अपवाद रही। वोट को लेकर बाहरी दिल्ली और दिल्ली देहात के कॉलेजों में भी वोट को लेकर खास उत्साह नहीं था। इतना ही नहीं कॉलेजों में मतदान 35 फीसद से ज्यादा नहीं रहा। कहीं -कहीं तो यह आंकड़ा 30 फीसद को भी पार नहीं कर सका।

रावत ने कहा- कहीं से भी किसी तरह की अनहोनी या अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली। मतदान पूरी तरह से शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हुआ। बता दें कि गड़बड़ी न हो, इसके लिए सभी कॉलेजों में पुलिस बल तैनात किया गया था। रामजस कॉलेज में दोपहर करीब 12 बजे छात्रों के बीच हंगामा हुआ। पुलिस व अधिकारियों को हस्तक्षेप करना पड़ा। प्रचार के दौरान एबीवीपी व एनएसयूआइ के समर्थकों के बीच बहस हुई। मतदान के दौरान रामजस व दयाल सिंह कॉलेज में ईवीएम में खराबी आई। रामजस कॉलेज में करीब 11 बजे इवीएम में खराबी की जानकारी प्रशासन को मिली। 10 मिनट के अंदर इवीएम दुरुस्त कर दी गई।

कॉलेज में मतदाता छात्र-छात्राओं के अलावा किसी को अंदर जाने की इजाजत नहीं थी। हर कॉलेज के पास पीसीआर वैन तैनाती थी। सत्यवती कॉलेज, लक्ष्मीबाई कॉलेज, गुरु गोविंद सिंह कॉलेज, केशव महाविद्यालय में ज्यादा चहल-पहल थी। कॉलेजों के बाहर लंबी कतारें लगी थीं। विभिन्न उम्मीदवारों के बारे में बात करते हुए नजर आए कि कौन उनके लिए सबसे ज्यादा काम करेगा। उन्होंने सेल्फी भी ली। शनिवार दोपहर एक बजे तक नतीजे आने की उम्मीद है। गड़बड़ी के आरोपों से बचने के लिए मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय पहली बार मतगणना भी कैमरों की निगरानी में करेगा। हर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (इवीएम) में रिकॉर्ड हुए मतों का ब्योरा रिकॉर्ड होगा।

मुख्य चुनाव अधिकारी प्रोफेसर डीएस रावत ने बताया कि पारदर्शिता के लिए मतगणना हॉल में भी वीडियो रिकॉर्डिंग की व्यवस्था की गई है। डूसू के लिए 140 और कॉलेजों के छात्रसंघ चुनाव के लिए 117 ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) लगाई गई हैं। डूसू के मुख्य चुनाव अधिकारी प्रोफेसर डीएस रावत ने बताया कि कॉलेजों में सुबह 8.30 बजे से वोटिंग शुरू हुई जो दोपहर साढेÞ बारह बजे तक जारी रही। सांध्य कॉलेजों में वोटिंग दोपहर बाद 3 बजे से शाम 7 बजे तक हुई। कुछ कॉलेजों में वोटिंग का समय बढ़ा क्योंकि जो छात्र आखिरी वक्त तक कॉलेज या मतदान केंद्र के अंदर दाखिल हो चुके थे उन्हें वोट डालने दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App