ताज़ा खबर
 

DUSU Election 2018: 52 कॉलेजों में हुआ मतदान, चुनावी मैदान में 23 उम्मीदवार

DUSU Election Result 2018, DU Election Chunav Result 2018 Date, Parties, Candidates List: मतदान के लिए इन 52 कॉलेजों में लगभग 700 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन्स (ईवीएम) लगाई गईं, जबकि 100 पुलिसकर्मी चुनावी प्रक्रिया पर निगरानी के लिए तैनात किए गए थे।

वोट डालने के लिए अपनी बारी का इंतजार करती छात्राएं। (एक्सप्रेस फोटोः अमित मेहरा)

DUSU Election Result 2018 Date, Parties, Candidates List: दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव के लिए आज (12 सितंबर) मतदान हुआ। सुबह आठ बजे से विवि के करीब 52 कॉलेजों में छात्र-छात्राओं ने अपने मत का इस्तेमाल किया। मतदान शाम साढ़े सात बजे तक चला। हालांकि, दोपहर एक बजे से तीन बजे के बीच लंच ब्रेक लिया गया।

डूसू चुनाव में इस बार 23 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनका भविष्य तकरीबन 1.35 लाख छात्र तय करेंगे। डूसू अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद पर पांच-पांच उम्मीदवार खड़े हुए हैं, जबकि आठ लोग सचिव पद के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। साल भर इन लोगों ने सब्सिडी पर मिलने वाले खाने और स्पोर्ट्स एक्टिविटीज को बढ़ावा देने सरीखे मुद्दों पर जोर दिया।

प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) के मुताबिक, मतदान के लिए इन 52 कॉलेजों में लगभग 700 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन्स (ईवीएम) लगाई गईं, जबकि 100 पुलिसकर्मी चुनावी प्रक्रिया पर निगरानी के लिए तैनात किए गए। वहीं, चुनाव परिणाम का ऐलान गुरुवार (13 सितंबर) को किया जाएगा।

मतदान के मद्देनजर डीयू के नॉर्थ कैंपस और साउथ कैंपस समेत अन्य कॉलेजों के आसपास सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रही। साउथ कैंपस में महिला कॉन्स्टेबलों की भारी तैनाती की गई, जबकि नॉर्थ कैंपस में कॉलेज की तरफ आने वाली सड़कों के पास पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी थी। केवल छात्र-छात्राओं, शिक्षकों और चुनाव अधिकारियों को ही वहां जाने की अनुमति दी जा रही थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नॉर्थ कैंपस में सुबह मतदान के दौरान कॉलेजों के बाहर कुछ बाहरी लोगों को भी देखा गया था। दावा किया गया कि वे लोग छात्र-छात्राओं को वोट देने को लेकर सलाह-मशविरे दे रहे थे। पुलिस को जैसे ही इस बात की सूचना मिली, उन्होंने इस तरह के लोगों पर नजर रखना शुरू कर दिया। आपको बता दें कि पिछले साल डूसू चुनाव में करीब 45 फीसद छात्र-छात्राओं ने मतदान किया था, जबकि वर्ष 2016 में 36.9 फीसदी और साल 2015 में 43.3 फीसदी वोटिंग हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App