ताज़ा खबर
 

Dussehra 2019: मुंह से आग निकाल रहा था ‘ताड़का’ बना कलाकार, कपड़ों में आग लगने से बुरी तरह झुलसा, हुई मौत

Dussehra (Vijayadashami) 2019: रामलीलाओं और नाटकों में स्टंट करके उसे आकर्षक और सजीव बनाने की कोशिशें अक्सर घातक साबित होती हैं। इससे कई बार जान भी चली जाती है, लेकिन इन पर न तो कोई रोक लगती है और न ही मनाही होती है। सड़क पर आए दिन बाइक सवारों का स्टंटबाजी हमें दिखती रहती है।

29 सितंबर को हुआ था हादसा।

Dussehra 2019: रामलीला में स्टंट करने में झुलसे एक कलाकार की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना यूपी के मुजफ्फरनगर में एक रामलीला के दौरान हुई थी। मामले में लापरवाही बरतने पर पुलिस ने आयोजकों में से चार के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक ताड़का वध लीला के दौरान मुंह से आग निकलने का करतब दिखाते समय वह झुलस गया था। घटना 29 सितंबर को स्थानीय रामपुरी इलाके में हुई थी।

मुंह में पेट्रोल डाल आग निकाल रहा था: रामलीला में अंकित नाम के कलाकार ने मुंह में पेट्रोल डालकर आग निकाल रहा था। इसी दौरान आग उसके कपड़े पर लग गई। इससे वह बुरी तरह झुलस गया। उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे दिल्ली रेफर कर दिया। गंभीर हालत में दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती अंकित की इलाज के दौरान मौत हो गई। इससे रामलीला कमेटी और स्थानीय लोगों में शोक व्याप्त हो गया। दशहरे के अवसर पर इस घटना से दशहरे का उत्साह भी खत्म हो गया।

National Hindi News, 8 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

लोगों ने शव को सड़क पर आयोजकों के खिलाफ नारेबाजी की: दिल्ली में मौत के बाद उसका शव यहां पहुंचने पर लोगों ने धरना-प्रदर्शन कर विरोध जताया। लोगों का कहना था कि नाम कमाने और स्टंट दिखाने के लिए आयोजकों ने उससे इस तरह का काम कराया था। लोगों का कहना कि आयोजकों के खिलाफ अगर सख्त कार्रवाई नहीं की जाएगी, तो वे आंदोलन का रास्ता पकड़ लेंगे। लोगों ने शव को सड़क पर आयोजकों के खिलाफ नारेबाजी की। लोगों का गुस्सा इस बात को लेकर भी था कि आयोजकों ने सुरक्षा के लिए कोई ऐहतियाती कदम नहीं उठाए थे।

चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज: स्थानीय पुलिस के मुताबिक आयोजकों की लापरवाही की जांच की जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। थानेदार अनिल कापरवान के मुताबिक रामलीला आयोजन समिति के अध्यक्ष शक्ति सिंह, महासचिव एसके गौतम एवं प्रमोद पाल और कोषाध्यक्ष नीरज कौशिक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304ए (लापरवाही की वजह से मौत होना) के तहत मामला दर्ज किया गया है। कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Article 370 को लेकर सीएम खट्टर ने सोनिया गांधी पर बोला हमला, कहा- वह आतंकवादियों के लिए बहाती हैं आंसू
2 योगी सरकार की गोशाला में 22 गायों की मौत, शुरुआती जांच में दावा- बाजरे की पत्तियां खाने से गई जान
3 Navmi पर कन्या भोज के दौरान लगी भीषण आग, जिंदा जल गई एक बच्ची, 3 अन्य गंभीर रूप से घायल
IPL 2020 LIVE
X