ताज़ा खबर
 

24 घंटे में 300 ने तोड़ा दम, संक्रमण के 13,287 नए मामले

कोरोना संक्रमण का हर घंटा दिल्ली वालों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। राष्ट्रीय राजधानी में हर घंटे 12 से 13 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण की वजह से दर्ज की जा रही है।

नई दिल्‍ली | May 13, 2021 6:31 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)।

कोरोना संक्रमण का हर घंटा दिल्ली वालों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। राष्ट्रीय राजधानी में हर घंटे 12 से 13 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण की वजह से दर्ज की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार को जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में कोरोना संक्रमण से 300 मौत हुर्इं। वहीं 78,035 जांच के बाद 13,287 नए मामले सामने आए हैं।

नए मामलों की वजह से दिल्ली में सील क्षेत्रों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। इस समय दिल्ली में कुल 56,852 सील क्षेत्र हैं।
बुधवार को दिल्ली में संक्रमित होने वाले मरीजों की तुलना में ठीक होने वाले मरीज अधिक रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को 14,071 मरीज ठीक होकर अपने घर गए हैं। दिल्ली में इस समय 82,725 कोरोना संक्रमण के सक्रिय मरीज हैं और 49,974 मरीजों का इलाज एकांतवास में भी किया जा रहा है।

अस्पताल में 18,733, कोरोना देखभाल केंद्र में 648 और कोरोना स्वास्थ्य केंद्र में 83 मरीजों का इलाज किया जा रहा है,जबकि अस्पताल में 4,469, कोरोना देखभाल केंद्र में 4,877 और कोरोना स्वास्थ्य केंद्र में 123 बिस्तर अभी भी खाली हैं। बीते 24 घंटे में दिल्ली में 63,315 आरटी-पीसीआर और 14,720 एंटीजन जांच की गई हैं।

अब तक कुल 1,80,27,606 जांच की जा चुकी हैं। इसी प्रकार कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इस दौरान कुल 1,29,291 टीके लगाए गए हैं। इन लोगों में 84,139 लोगों ने पहली बार और 45,152 लोगों ने दूसरी बार यह टीका लगवाया है। अब तक दिल्ली में कुल 41,47,654 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। कोरोना संक्रमण से अब तक 13,61,986 लोगों को संक्रमण हो चुका है और 12,58,951 मरीज इस बीमारी से ठीक हुए हैं। जबकि 20,310 मरीजों की जान इस बीमारी से हुई है। अब तक की कुल संक्रमण की दर 7.56 फीसद और मृत्युदर 1.49 फीसद दर्ज की गई है।

Next Stories
1 यूपीः इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे मरीज, इधर हाथरस में ताले में बंद कर रखे गए हैं वेंटीलेटर्स, सवालों पर भड़के एसएमओ
2 बनारसः मरीजों के परिजन बोले- बड़े डॉक्टर नहीं आ रहे अस्पताल में, छोटे स्टाफ के भरोसे हैं लोग, एक्सपायरी दवा लेने को मजबूर
3 जब लालू यादव ने कहा था, सुशील मोदी था हमारा सेक्रटरी, अब हमारे खिलाफ बोल रहे, कितनी बड़ी गिरावट
ये पढ़ा क्या?
X