ताज़ा खबर
 

यूपी: डिलिवरी के वक्त मोबाइल देखने लगी डॉक्टर, गर्भ से निकल कचरे के डिब्बे में गिरा नवजात

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिला अस्पताल में महिला चिकित्सक की लापरवाही की वजह से नवजात कचरे के डिब्बे में जा गिरा। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। निजी अस्पताल में नवजात का इलाज चल रहा है।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के सरकारी अस्पताल में एक महिला डाॅक्टर की लापरवाही की वजह से नवजात बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है। मामला शाहजहांपुर जिला अस्पताल का है। यहां प्रसव के दौरान डॉक्टर मोबाइल देखने में व्यस्त हो गई। इस दौरान प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया। बच्चा गर्भ से पहले बेड पर गिरा और जब तक डॉक्टर कुछ समझ पाती, वह लुढ़क कर कचरे के डिब्बे में गिर गया और गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन-फानन में नवजात को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। नवजात जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शाहजहांपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र की रहने वाली सीमा को प्रसव पीड़ा के बाद जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। करीब सात घंटे बाद उसे प्रसव के लिए ले जाया गया। इस दौरान वहां तैनात महिला डॉक्टर तनवी ने घोर लापरवाही दिखाते हुए महिला पर ध्यान देने की बजाय मोबाइल में व्यस्त हो गई। अचानक महिला ने एक बच्चे को जन्म दे दिया जो पहले बेड पर गिर और फिर लुढ़ककर कचरे के डिब्बे में जा गिरा। डस्टबीन में गिरने की वजह से बच्चा बुरी तरह जख्मी हो गया। फिलहाल नवजात और उसकी मां का इलाज एक निजी अस्पताल में हो रहा है। महिला चिकित्सक की इस बड़ी लापरवाही के बाद अस्पताल प्रशासन ने कड़े कदम उठाते हुए पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही का यह पहला मामला नहीं है। इस घटना ने कुछ समय पहले हुए उस घटना की याद को ताजा कर दी, जब शाहजहांपुर के अस्पताल में ही प्रसव के दौरान एक बच्चा गिर गया था, इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। नवजात की मौत के बाद उसकी महिला की भी मौत हो गई। इस अस्पताल में कुव्यवस्था का अालम यह है कि कुछ दिनों पहले यहां गंदगी का ढ़ेर देख जिलाधिकारी ने एक्शन लेते हुए कर्मचारियों का वेतन काटने के निर्देश दिए थे। हर तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X