ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़: DU और JNU के प्रोफेसरों पर आदिवासी की हत्या का आरोप

छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित सुकमा जिले में एक आदिवासी ग्रामीण की हत्या के आरोप में कुल 10 लोगों पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

Author रायपुर | November 8, 2016 4:15 PM
डीयू की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर

छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित सुकमा जिले में एक आदिवासी ग्रामीण की हत्या के आरोप में जेएनयू और दिल्ली विश्वविद्यालय की एक-एक प्रोफेसर के समेत कुल 10 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। पुलिस महानिरीक्षक (बस्तर रेंज) एसआरपी कल्लूरी ने सोमवार (7 नवंबर) को समाचार एजेंसी पीटीआई भाषा को बताया, ‘‘शामनाथ बघेल की हत्या के मामले में शनिवार को उसकी पत्नी की शिकायत के आधार पर माओवादियों और कुछ अन्य के साथ-साथ डीयू की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर, अर्चना प्रसाद (जेएनयू प्रोफेसर), विनीत तिवारी (दिल्ली के जोशी अधिकारी संस्थान से), संजय पराटे (छत्तीसगढ़ माकपा के प्रदेश सचिव) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है।” इन लोगों पर तोंगपाल थाने में आईपीसी की धारा 120 बी (आपराधिक षडयंत्र), 302 (हत्या), 147 (दंगे फैलाने), 148 और 149 के तहत मामले दर्ज किये गये हैं। पुलिस महानिरीक्षक के अनुसार जांच के बाद दोषी पाये गये लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback

देखें वीडियो:
दिल्ली विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर ने मंगलवार को समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, “हमारे खिलाफ एफआईआर बेतुकी है। हम वहां कई महीनों से नहीं गए। ये पुलिस की गैर-कानूनी तौर-तरीकों को बेपर्दा करने वाले शोधकर्ताओं, पत्रकारों, वकीलों और सामाजिक कार्यकर्ताओं से बदला लेने के लिए किया जा रहा है।” मामला शनिवार को दर्ज किया गया था लेकिन सोमवार शाम को यह प्रकाश में आया। सशस्त्र नक्सलियों ने चार नवंबर, शुक्रवार की देर रात शामनाथ बघेल की नामा गांव स्थित उसके घर पर कथित तौर पर धारदार हथियारों से हत्या कर दी थी। यह गांव यहां से करीब 450 किलोमीटर दूर है और तोंगपाल इलाके की कुमाकोलेंगे ग्राम पंचायत में आता है।

बघेल और उसके कुछ साथी इस साल अप्रैल से उनके गांव में चल रही नक्सली गतिविधियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। शिकायत में यह भी आरोप लगाया गया कि बघेल पर हमले के दौरान माओवादी उसे कह रहे थे कि उसे इसलिए दंडित किया जा रहा है क्योंकि उसने सुंदर और अन्य लोगों की बात नहीं सुनी और उनका विरोध जारी रखा। कल्लूरी ने कहा कि बघेल की पत्नी ने सुंदर और अन्य पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App