ताज़ा खबर
 

DU में झगड़ा: AISA चीफ बोलीं- ABVP के लड़कों ने की बदतमीजी, मुझे सेमिनार में जाने से रोका

दिल्ली विश्वविद्यालय के सत्यवती कॉलेज में गुरुवार को महिला सुरक्षा से जुड़े कार्यक्रम के दौरान हंगामा हुआ। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन( आईसा) की प्रमुख कलवप्रीत कौर ने सत्यवती कॉलेज में महिला सुरक्षा से जुड़े कार्यक्रम में एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हाथापाई का आरोप लगाया है। आरोप है कि दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेज में गुरुवार को आयोजित […]

Author नई दिल्ली | February 22, 2018 18:33 pm
आईसा की चीफ कवलप्रीत कौर ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर बदसलूकी का आरोप लगाया( फोटो-फेसबुक)

दिल्ली विश्वविद्यालय के सत्यवती कॉलेज में गुरुवार को महिला सुरक्षा से जुड़े कार्यक्रम के दौरान हंगामा हुआ। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन( आईसा) की प्रमुख कलवप्रीत कौर ने सत्यवती कॉलेज में महिला सुरक्षा से जुड़े कार्यक्रम में एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हाथापाई का आरोप लगाया है। आरोप है कि दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेज में गुरुवार को आयोजित इस कार्यक्रम में जाने से कवलप्रीत को एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने रोकने की कोशिश की। भाषण के दौरान एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने उनके खिलाफ नारे भी लगाए। हंगामा के चलते कार्यक्रम स्थल पर दिल्ली पुलिस को पहुंचना पड़ा।

कवलप्रीत ने कहा कि जब महिला सुरक्षा से जुड़ा कार्यक्रम समापन की ओर था,तब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यककर्ताओं ने हंगामा कर इवेंट में व्यवधान डालने की कोशिश की। ऑनलाइन हैरेसमेंट को लेकर सत्यवती कॉलेज फेमिली काउंसिलिंग सेंटर, गूगल की ओर से आयोजित इस सेमिनार में कवलप्रीत पैनलिस्ट थीं। कवलप्रीत के मुताबिक जब कार्यक्रम शुरू हुआ, एबीवीपी कार्यकर्ता अंदर ऑडिटोरियम में घुस आए और प्रोफेसर सहित कार्यक्रम में चर्चा कर रहे लोगों पर हमला कर दिया।बता दें कि कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया लिबरेशन की आईसा छात्र संगठन है। वहीं एबीवीपी भाजपा की छात्र इकाई है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हंगामे की सूचना पर पहुंची दिल्ली पुलिस जब कवलप्रीत को सुरक्षा घेरे में ले जा रही थी तो एक एबीपीवी कार्यकर्ता ने कहा-हम उसकी जान ले लेंगे। उधर घटना के बाद कवलप्रीत कौर ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App