ताज़ा खबर
 

बेटी की खातिर दूसरी बार की थी शादी, लेकिन 4 साल बाद डॉक्टर कपल ने फिर लगा दी तलाक की अर्जी

महिला का कहना है कि उन्होंने बेटी की खुशी के लिए दूसरी बार शादी की थी। दूसरी बार भी शादी सारे रीति-रिवाजों के साथ हुई लेकिन अब भी दोनों के बीच झगड़े बंद नहीं हुए।

Author भोपाल | Published on: September 11, 2019 9:28 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडियन एक्सप्रेस)

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कुटुम्ब न्यायालय में तलाक की एक अनोखी अर्जी सामने आई है। दरअसल एक डॉक्टर दंपती दो बार शादी करने के बाद फिर से तलाक लेना चाहते हैं। पहली बार की शादी को 13 साल हो चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दोनों ने पहली बार 2006 में हिंदू रीति-रिवाजों से शादी की थी, इसके कुछ सालों बाद दोनों में अनबन होने लगी तो 2011 में दोनों ने तलाक ले लिया। बेटी की परवरिश के चलते 4 साल बाद दोनों ने 2015 में फिर शादी की लेकिन अब फिर से तलाक की नौबत आ गई।

बेटी के लिए एक हुए थे, उसी के लिए अलगः महिला का कहना है कि उन्होंने बेटी की खुशी के लिए दूसरी बार शादी की थी। दूसरी बार भी शादी सारे रीति-रिवाजों के साथ हुई लेकिन अब भी दोनों के बीच झगड़े बंद नहीं हुए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महिला का कहना है कि दोनों के बीच अनबन का असर बेटी पर पड़ रहा है। जिस बेटी के लिए दोनों दोबारा एक हुए थे, अब उसी के लिए फिर अलग-अलग हो रहे हैं।

National Hindi Khabar, 11 September 2019 LIVE News Updates: देश-दुनिया की अहम खबरों के लिए क्लिक करें

क्या है विवाद की जड़ः महिला का कहना है कि उसके पति घर पर समय नहीं देते हैं। वहीं पति की शिकायत है कि पत्नी छोटी-छोटी बातों की शिकायत अपने मायके में करती है। कुटुम्ब न्यायालय की नूरुन्निशां खान ने मीडिया को बताया कि दंपती को फिर से काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया है।

आमतौर पर कोर्ट तलाक के मामलों में पति-पत्नी को पुनर्विचार के लिए छह महीने का समय देता है। तलाक के कई मामले कुटुम्ब न्यायालय में रोज आते हैं लेकिन दो बार शादी करने के बाद फिर से तलाक के मामले कम ही देखने को मिलते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories