ताज़ा खबर
 

बेटे को ‘जिंदगी’ दिलाने ले जा रहे थे, रास्ते में ही मिली मौत, DND पर हुआ दर्दनाक हादसा

शुक्रवार तड़के नोएडा के डीएनडी फ्लाइवे पर हुए हादसे में ढाई साल के बच्चे और टेक्निशियन की मौत हो गई, जबकि मां-बाप, बड़ा भाई और ड्राइवर गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसा तब हुआ जब ट्रांसपोर्ट विभाग की टीम ने ट्रक को रोकने का इशारा किया।

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली-नोएडा डायरेक्ट फ्लाईवे पर ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की एनफोर्समेंट टीम ने ट्रक को अचानक रोक लिया तो पीछे से आ रही एंबुलेंस उस ट्रक से जा टकराई। हादसे में एंबुलेंस में सवार टेक्निशियन और ढाई साल के बच्चे की मौत हो गई। बच्चे को इलाज के लिए सफदरजंग ले जाया जा रहा था। उसके मां-पिता और चार साल के भाई की हालत गंभीर है। उन्हें ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। घटना शुक्रवार तड़के 3.15 बजे की है। चश्मदीदों ने बताया कि हादसा होते ही ट्रक ड्राइवर और उसे रुकवाने वाले ट्रांसपोर्ट विभाग के कर्मचारी फरार हो गए।

बीमार बेटे को सफदरजंग अस्पताल ले जा रहे थे : पुलिस के मुताबिक एमपी के चित्रकूट निवासी सुरेश पत्नी और दो बेटों के साथ नोएडा में रहते हैं। छोटे बेटे ढाई साल के सुभाष की बुधवार रात तबियत खराब हुई तो सुरेश उसे एंबुलेंस से लेकर नोएडा के अस्पताल गए। हालत गंभीर देख डॉक्टरों ने उन्हें सफदरजंग अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। एंबुलेंस में बच्चे के माता-पिता और चार साल का भाई तथा ड्राइवर के अलावा टेक्निशियन भी साथ में थे।

National Hindi News, 21 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

डीएनडी के आगे पहुंचते ही हुआ हादसा : एबुलेंस जब मयूर विहार इलाके में DND टोल से थोड़ा आगे निकली तो आगे चल रहे ट्रक ने अचानक ब्रेक लगा दिए, जिससे हादसा हो गया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बीमार सुभाष की मौके पर मौत हो गई। एंबुलेंस के टेक्निशियन सुनील (30) को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल के डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वह मूलरूप से आगरा के रहने वाले थे। ईस्ट जिले के डीसीपी जसमीत सिंह ने कहा कि मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। सभी सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं।

Maharashtra, Haryana Assembly Elections 2019 Date Live Updates: महाराष्ट्र-हरियाणा में चुनाव से संबंधित हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

ट्रक ड्राइवर और चेकिंग टीम वाले भाग निकले : चश्मदीदों ने बताया कि एंबुलेंस के ट्रक से टकराने पर ड्राइवर ट्रक समेत भाग गया। एनफोर्समेंट डिपार्टमेंट की टीम भी घायलों की मदद करने के बजाय भाग निकली। इसके बाद टोल प्लाजा के स्टाफ और गार्ड ने राहत के काम में मदद की। टक्कर से एंबुलेंस का आगे का हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। आगे बैठे ड्राइवर और टेक्निशियन बुरी तरह फंस गए। फायर ब्रिगेड की टीम ने दोनों को बड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला। टोल के सुरक्षाकर्मियों और राहगीरों ने पुलिस कॉल की। इसके बाद एंबुलेंस जख्मियों को अस्पताल लेकर गई। एंबुलेंस ड्राइवर ने बताया कि डीएनडी टोल प्लाजा पार करते ही अचानक एनफोर्समेंट डिपार्टमेंट की टीम ने रोक लिया। इससे वह एंबुलेंस पर कंट्रोल नहीं कर सका और सीधे ट्रक से भिड़ गए। पुलिस ट्रक ड्राइवर और एनफोर्समेंट टीम की तलाश कर रही है।

हादसे से बिखर गई जिंदगी : हादसे से नोएडा में सिक्यॉरिटी गार्ड की जॉब करने वाले सुरेश की जिंदगी बिखर-सी गई है। वह मध्य प्रदेश के चित्रकूट के रहने वाले हैं। दो जून की रोटी कमाने के लिए वह नोएडा आए थे। पत्नी मुन्नी देवी और दो बच्चों के साथ उनका जीवन ठीक से गुजर रहा था। इस हादसे ने उनका ढाई साल का बेटा छीन लिया। वहीं चार साल के बेटे, वह खुद और उनकी पत्नी की हालत गंभीर है। टेक्निशियन सुनील कुमार का परिवार आगरा का रहने वाला है। इस वजह से लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में उनका शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम नहीं हो पाया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 J&K: मोबाइल-इंटरनेट सेवा बंद, लेकिन कंपनियां लगातार भेज रहीं बिल; कश्मीरी ने बयां किया दर्द
2 आजम खां की दिवंगत मां के खिलाफ भी केस दर्ज, रामपुर फांसी घर की जमीन का है मामला
3 New Traffic Rules: बस ड्राइवर ने नहीं पहना ‘हेलमेट’ तो काट दिया 500 रुपए का चालान