ताज़ा खबर
 

मध्यप्रदेश के उमरिया में डीएम ने पेश की मिसाल, तपती गर्मी से परेशान बच्चों के वॉर्ड में लगवा दिया अपना AC

मध्यप्रदेश के उमरिया ने एक जिला कलेक्टर ने मानवता की मिसाल पेश की। तपती गर्मी को देखते हुए डीएम स्वरोचिश सोमवंशी नेअपने चैंबर और ऑफिस हॉल का एसी उतरवा कर जिला के बच्चों के पोषण पुनर्वास केंद्र में लगवा दिया।

Author नई दिल्ली | June 7, 2019 1:05 PM
उमरिया जिले के इसी पुनर्वास केंद्र में डीएम ने लगावाया है अपने ऑफिस का एसी। (फोटोः एएनआई)

मध्य प्रदेश के उमरिया जिले में जिला कलेक्टर ने मानवता की मिसाल पेश की। जिले के पाली स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र (एनआरसी) में बच्चों को गर्मी से परेशान देख जिला कलेक्टर ने अपने चैंबर और ऑफिस हॉल का एसी निकलवा कर बच्चों के लिए लगवा दिया। जिला कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने कहा कि यह सहज रूप से लिया गया निर्णय था।

एनआरसी बिल्डिंग के अंदर बहुत ही गर्मी थी। हम एसी की व्यवस्था कर रहे थे लेकिन वहां तुरंत एसी लगाए जाने की जरूरत थी। सोमवंशी ने कहा कि यहां चार एनआरसी ब्लॉक हैं। सभी ब्लॉक में एसी लगवा दिया गया है। यहां पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों का इलाज किया जाता है।

डीसी के इस कदम की इलाज कराने आए बच्चों के परिजनों के साथ ही सोशल मीडिया पर भी काफी तारीफ हो रही है। वहीं इन दिनों पूरे उत्तर भारत में बहुत गर्मी पड़ रही है। उमरिया मध्यप्रदेश में सबसे गर्म जिलों में से एक है। बृहस्पतिवार को उमरिया में तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस था। वहीं, बुधवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था।

सोशल मीडिया पर लोगों ने की तारीफः कलेक्टर की इस कदम की सोशल मीडिया पर लोग काफी तारीफ कर रहे हैं। यूजर @kratesh1 ने लिखा कि आपके शानदार पहला आपके द्वारा सराहनीय कदम हैट्स ऑफ टू यू। एक अन्य यूजर  @Sanju9026 ने लिखा कि ऐसे लोग बहुत कम बचे हैं।

राज्य में बिजली कटौती से लोग परेशानः इससे पहले राज्य में जबरदस्त गर्मी के बीच लोग बिजली की कटौती से परेशान हैं। घरों के साथ ही अब अस्पतालों के लिए भी बिजली कटौती परेशानी बनी हुई है। इससे पहले मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट जब बिजली कटौती की समस्या पर बैठक  कर रहे थे उसी दौरान बिजली कट गई। इससे अधिकारियों के हाथ-पैर फूल गए। इससे पहले मंत्री ने अस्पतालों में बिजली जाने पर 10 मिनट के भीतर बैकअप उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App