ताज़ा खबर
 

SC/ST को लेकर बोले दिग्विजय सिंह, धोखेबाज है बीजेपी, मिलना चाहिए दंड

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बुधवार को यहां कहा कि अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम में संसद द्वारा हाल ही में किए गए परिवर्तन के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सबसे ज्यादा जिम्मेदार है।

Author Updated: September 13, 2018 12:53 PM
Digvijay Singhमध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह। Express Photo by Tashi Tobgyal

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बुधवार को यहां कहा कि अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम में संसद द्वारा हाल ही में किए गए परिवर्तन के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सबसे ज्यादा जिम्मेदार है। उन्होंने कहा,‘‘ भाजपा ही हर चुनाव से पहले यह प्रचार करती आई है कि हमें वोट दो। हम एससी/ एसटी अधिनियम खत्म करा सकते हैं। उसने (भाजपा) धोखा दिया है, तो उसे दंड दिया जाना चाहिए।’’ वह यहां वृन्दावन में आयोजित शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती के जन्मोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए थे। उन्होंने कहा, ‘‘भारत में संविधान सर्वोपरि है। संविधान ही लोकसभा, राज्यसभा सहित विधानसभाओं और विधान परिषदों को अधिकार देता है कि वे जनता के हित में कानून बनाएं और जब ये संस्थाएं सर्वसम्मति से कोई कानून पारित करती हैं, तो उस पर कैसे उंगली उठाई जा सकती है।’’ पत्रकारों से बातचीत में एक सवाल के जवाब में सिंह ने कहा, ‘‘आजकल डीजल-पेट्रोल के भाव और रुपए के बदले में डॉलर के मूल्यों में लगातार हो रही वृद्धि में होड़ लगी हुई है कि पहले कौन ‘‘सेंचुरी’’ बनायेंगा। रुपया लगातार गिर रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे तो ऐसा प्रतीत होता है इस समय देश में 1977 के चुनावों के पहले की स्थिति बन गई है। तमाम चीजों को लेकर जनता में चुप्पी छाई हुई है। कोई कुछ बोल नहीं रहा है, जिससे मालूम पड़ता है कि वे 2019 के लोकसभा चुनावों में ही इन सब का जवाब देने की मंशा रखती है।’’ राम मंदिर के मुद्दे पर पूछे गए सवाल पर सिंह ने कहा, ‘‘इस मामले पर कांग्रेस का रुख स्पष्ट है।

वह धार्मिक मुद्दों पर राजनीति नहीं करती जबकि भाजपा निजी स्वार्थ के लिए धर्म का दुरुपयोग करती है। धर्म के नाम पर चंदा इकट्टा करती है। हाल ही में अखाड़ा परिषद के महंत ने आरोप लगाया था कि भाजपा वाले 14 सौ करोड़ रुपये खा गए। इस बारे में उनसे पूछा जाना चाहिए कि इतनी बड़ी रकम कहां गई।

Next Stories
1 VIDEO: भीड़ ने ईंट और लाठियों से बोला हमला, जिंदगी और मौत से जूझ रहा इंस्‍पेक्‍टर
2 मध्‍य प्रदेश: चुनाव समीप आते ही हर दिन बढ़ने लगे 32000 नए वोटर्स, पार्टियों की उड़ी नींद
3 लॉटरी टिकट खरीदने के लिए पड़ोसी से 200 रुपये लिया था उधार, अब जीता 1.5 करोड़ का जैकपॉट
ये पढ़ा क्या?
X