दिग्विजय ने विदेशी मीडिया की रिपोर्ट का दिया हवाला, Air Strike की सफलता पर फिर उठाए सवाल

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बालाकोट एयर स्ट्राइक के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के हवाले से केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि विदेशी मीडिया की खबर से सरकार की विश्वसनीयता पर भी सवालिया निशान लग रहा है।

digvijay singh, air strike, modi govकांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एयर स्ट्राइक के मुद्दे पर सरकार से सवाल किया फोटो सोर्स- ट्विटर/जनसत्ता

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बालाकोट एयर स्ट्राइक के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरते हुए कहा है कि सरकार बताए कि इस हमले में कितने लोग मारे गए हैं। इसको लेकर उन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की खबर का हवाला भी दिया, जिसने बालाकोट हमले को लेकर कुछ सवाल खड़े किए हैं। दिग्विजय ने अपने ट्विटर पर रॉयटर्स की खबर की हेडिंग को शेयर किया है, जिसमें लिखा है कि सेटेलाइट की तस्वीर में मदरसे की इमारत अभी भी खड़ी हुई दिख रही है, जिसे भारतीय सेना ने बम गिराकर नष्ट करने का दावा किया था।

दरअसल, दिग्विजय सिंह बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद से सरकार से सबूत की मांग कर रहे हैं। उन्होंने हाल ही में ट्वीट कर सरकार से पूछा था कि पुलवामा हमले के बाद हमारी वायु सेना द्वारा की गयी एयर स्ट्राइक के बाद कुछ विदेशी मीडिया में संदेह पैदा किया जा रहा है जिससे हमारी भारत सरकार की विश्वसनीयता पर भी सवाल खड़ा हो गया है, इसलिए सरकार को सबूत पेश करना चाहिए। इसको लेकर उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से एक अंतरराष्ट्रीय न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की खबर से सरकार को घेरने की कोशिश की, जिसमें कहा गया है कि सेटेलाइट तस्वीरों में वो इमारत खड़ी नजर आ रही है जिसे भारत ने जैश-ए-मोहम्मद का ट्रेनिंग कैंप बताकर नष्ट कर दिया था।

क्या बोले दिग्विजय- कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने हाल ही में पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि आप और आपके वरिष्ठ नेता व आपकी पार्टी सेना की सफलता को जिस प्रकार से बीजेपी केवल अपनी सफलता साबित कर चुनावी मुद्दा बनाने का प्रयास कर रहे हैं वह हमारे देश के सुरक्षा कर्मियों की बहादुरी और समर्पण का अपमान है। इसके साथ ही उन्होंने सवाल किया कि सरकार के कुछ मंत्री कहते हैं 300 आतंकवादी मारे गये, बीजेपी अध्यक्ष कहते हैं 250 मारे हैं, योगी आदित्यनाथ कहते हैं 400 मारे गये और दूसरे मंत्री आहलुवालिया कहते एक भी नहीं मरा। ऐसे में देश जानना चाहता है कि इसमें झूठा कौन है।

क्या कहती है विदेशी एजेंसी की रिपोर्ट- बता दें कि दिग्विजय सिंह ने जिस न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए सरकार से सवाल किए हैं, उसमें लिखा है कि हाई क्वालिटी की सेटेलाइट तस्वीरें पिछले आठ दिनों में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा हमलो को लेकर दिये गए बयानों पर संदेह पैदा करती है। रॉयटर्स की रिपोर्ट में कहा गया कि ये तस्वीरें 4 मार्च को ली गई थी। लेकिन छह दिन बाद भी इन तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि मदरसे की इमारत अभी भी सही सलामत खड़ी है। गौरतलब है कि वायुसेना के मुताबिक उनके विमानों ने इस इलाके में बम गिराकर सभी आतंकी कैंपों को नष्ट कर दिया था।

गौरतलब है कि एयर स्ट्राइक के बाद केंद्र सरकार पर विपक्ष के कई नेता हमलावर हैं। इनमें दिग्विजय सिंह, ममता बनर्जी, कपिल सिब्बल जैसे बड़े नेता भी शामिल है। विपक्ष का आरोप है कि सरकार सेना की कार्रवाई का इस्तेमाल राजनीतिक हित के लिए कर रही है। हालांकि सरकार की ओर दिग्विजय को जवाब देने के लिए मंगलवार को तीन मंत्री सामने आए थे।

Next Stories
1 दिग्विजय ने पुलवामा को बताया दुर्घटना, रविशंकर बोले- ओसामा को ‘जी’ और हाफिज सईद को ‘साहब’ कहने वालों से क्या उम्मीद करें?
2 Pulwama Attack: आतंकी हमले से 10 दिन पहले मसूद अजहर ने किया था यह दावा, ऑडियो टेप से हुआ खुलासा
3 कांग्रेस से गठबंधन को बैचेन है ‘आप’: शीला दीक्षित
यह पढ़ा क्या?
X