ताज़ा खबर
 

यूपी: पूर्व डीजीपी के कथित मैसेज से मचा बवाल, लिखा- M होना गुनाह, जानिए क्या है मामला

उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी जावेद अहमद अपने एक कथित वॉट्सएप मैसेज को लेकर चर्चा में आ गए हैं। विवाद उस समय शुरु हुआ जब जावेद अहमद ने एक वॉट्सएप मैसेज ग्रुप में 'M' लिखकर भेजा।

फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी जावीद अहमद अपने एक कथित वॉट्सएप मैसेज को लेकर चर्चा में आ गए हैं। विवाद उस समय शुरु हुआ जब जावीद अहमद ने एक वॉट्सएप मैसेज ग्रुप में ‘M’ लिखकर भेजा। बताया जा रहा किसी ने सीबीआई निदेशक की नियुक्ति का लेटर ग्रुप पर शेयर किया था। इसी पर प्रतिक्रिया देते हुए अहमद ने लिखा, ‘अल्लाह की मर्जी, बुरा तो लगता है पर ‘M’ होना गुनाह है। यहां पर ‘M’ का मतलब मुसलमान होने से लगाया जा रहा है। ग्रुप में उत्तर प्रदेश में काम कर रहे सौ से ज्यादा आईपीएस अफसर शामिल हैं।

CBI निदेशक की दौड़ में शामिल था नामः बताया जा रहा है कि जावीद अहमद का नाम सीबीआई डायरेक्टर की दौड़ में शामिल था, लेकिन शनिवार की शाम को मध्य प्रदेश के 1983 कैडर के आईपीएस ऋषि कुमार शुक्ला को सीबीआई के नए निदेशक के रूप में नियुक्त कर लिया गया। इसके बाद आईपीएस ऑफिसर नाम से बने ग्रुप में जावीद अहमद ने यह मैसेज शनिवार को शाम करीब 5 बजकर 40 मिनट पर लिखा था, लेकिन कुछ देर बाद उसे डिलीट कर दिया।

बैठक में 30 नामों पर हुई थी चर्चाः गौरतलब है कि सरकार ने सीबीआई निदेशक के पद पर लंबे समय से चल रहे विवाद के बाद शनिवार को ऋषि कुमार शुक्ला को सीबीआई का नया निदेशक नियुक्त किया है। वे दो सालों तक इस पद पर रहेंगे। वह मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक रह चुके हैं। बताया जा रहा है कि इस पद नियुक्ति के लिए हुई बैठक में करीब 30 नामों पर चर्चा की गई थी। इनमें जावीद अहमद, रजनीकांत मिश्रा और एसएस देसवाल भी शामिल थे।

Next Stories
1 चिटफंड केसः पश्चिम बंगाल पुलिस ने CBI अफसरों को छोड़ा, बिना सर्च वारंट पहुंचने पर लिया था हिरासत में
2 बच्ची को चोंच मारी तो थाने बुला लिया गया मुर्गा, मालकिन ने कहा- हमें सजा दे दो, लेकिन इसे छोड़ दो
3 अमित शाहः गठबंधन सरकारों के कुप्रबंधन का शिकार हुआ देश, मोदी सरकार की दूरदर्शी नीतियों से बदली तस्वीर
आज का राशिफल
X