scorecardresearch

करोड़ों रुपये खर्च होने के बावजूद अमेठी की सड़कें जर्जर, लोग परेशान

लोक निर्माण विभाग में भ्रष्टाचार चरम पर होने के कारण सड़केंं बेहाल।

करोड़ों रुपये खर्च होने के बावजूद अमेठी की सड़कें जर्जर, लोग परेशान
सांकेतिक फोटो।

संजय गांधी 1980 में पहली बार अमेठी से सांसद चुने गए थे। इसके साथ ही अमेठी की पहचान देश में हो गई थी। लेकिन तब अमेठी में सड़कें नहीं थी। संजय गांधी खुद अमेठी में फावड़ा लेकर श्रमदान से सड़कों का निर्माण शुरू किया था। संजय गांधी की मौत के बाद राजीव गांधी यहां से सांसद बने। इसके बाद सड़कों का निर्माण बहुत तेजी से हुआ था।

राजीव गांधी के कार्यकाल में अमेठी के हर गांव को सड़क से जोड़ने का अभियान चला था। लेकिन 1991 में राजीव गांधी की हत्‍या के बाद यहां विकास थम गया। राजीव गांधी की खड़ाऊ लेकर अमेठी के सांसद बने कैप्टन सतीश शर्मा विकास को गति नहीं दे सके। इसके कारण वे अगामी चुनाव में डॉ संजय सिंह से हारकर यहां से वापस चले गए। इसके बाद सोनिया गांधी और राहुल गांधी अमेठी के सांसद चुने गए थे।

अब स्मृति ईरानी अमेठी की सांसद हैं। इनके कार्यकाल में अमेठी को बड़ी;-बड़ी सड़कों की सौगात मिली है। लेकिन पुरानी सड़कों पर चलना मुश्किल हो रहा है। जबकि सड़कों की मरम्मत के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं। लेकिन सड़कों की तस्वीर जस की तस बनी हुई है। अब अमेठी की पहचान जर्जर सड़कों से हो गई है। इसमें सबसे बुरा हाल अमेठी ब्लाक की सड़कों का है।

लोकनिर्माण विभाग की रामनगर छावनी मार्ग, रामनगर महुआ ताली धमरावा मार्ग, महुआ ताली छावनी मार्ग, छावनी नौगवा मार्ग, सीतारामपुर नौगवा मार्ग, रामनगर भूपतिपुर दुबेपुर मार्ग, रणवीर इंटरकालेज रामनाथपुर मोड़ मार्ग,बारामासी दरखा मार्ग,बरियापुर मार्ग,शराफत अली का पुरवा मार्ग, महमदपुर मार्ग,कोहरा मार्ग, रामगढ़ मार्ग, अमेठी बिशेषरगंज मार्ग, अमेठी ककवा मार्ग,भरथीपुर कोडरी मार्ग,वन विभाग भगवानपुर मार्ग, अमेठी सराय राज शाहपुर मार्ग,गगौली बिशेषरगंज मार्ग, गौरीगंज विधानसभा में मुसाफिरखाना बनियापुर मटेरा मार्ग,बिरंजा मार्ग,पनियार मार्ग, अमेठी संग्रामपुर मार्ग, अमेठी दुर्गापुर मार्ग आदि सड़कें जर्जर हो चुकी है। लेकिन मरम्मत के नाम पर केवल खानापूर्ति की जाती है।

अमेठी की जर्जर सड़कों पर लोक निर्माण विभाग के अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं। किसान मजदूर संघ के अध्यक्ष आरपी पांडेय ने बताया कि लोक निर्माण विभाग के जेई कागज पर सड़कों की मरम्मत कराकर भुगतान से जेब भरते हैं। पूर्व जिला पंचायत सदस्य और भाजपा नेता अवधेश सिंह ने कहा कि हर छह महीने में मरम्मत के नाम पर पैसे निकाले जाते हैं। लेकिन सड़कों पर काम नहीं होता है। इसके कारण सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है।

भाजपा नेत्री रश्मि सिंह ने कहा कि दस साल से महमदपुर की सड़क पर एक दाना गिट्टी नहीं पड़ी है। इसके कारण यहां की सड़क पर पैदल यात्रा करना मुश्किल हो गया है। भाजपा नेता रवि सिंह ने कहा कि नई सड़कें छह महीने में खस्ताहाल हो गई हैं। सीनियर अधिवक्ता राजेश मिश्र अमेठी बिशेषरगंज मार्ग की शिकायत मुख्यमंत्री तक से कर चुके हैं। लेकिन अभी तक गड्ढे भरे नहीं है। वे अब किसान नेताओं के साथ धरना प्रदर्शन करने की तैयारी में जुटे हैं।

भाजपा नेता अमरेंद्र सिंह पिंटू ने कहा कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी के विकास को लेकर दिन-रात मेहनत कर रही हैं। तीन साल में बड़ी -बड़ी सड़कें अमेठी को मिली हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीन साल के ऊपर वाले अधिकारियों के कार्यक्षेत्र बदलने के आदेश दिए थे। लेकिन अमेठी के जूनियर इंजीनियर छह, सात साल से एक ही कार्यक्षेत्र में जमे हए हैं। लोकनिर्माण विभाग में भ्रष्टाचार चरम पर है। इस बाबत केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के अपर सचिव विजय गुप्ता ने कहा कि सरकार को गुमराह करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई के लिए पत्र लिखा जाएगा। बाकी वे सड़कों का मामला केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के सामने रखेंगे। दोषी अभियंताओं पर कार्रवाई की जाएगी।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.