ताज़ा खबर
 

उपमुख्यमंत्री ने IAS अधिकारियों को ‘निकम्मा’ बताकर कहा- खाप पंचायत है IAS एसोसिएशन

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों से कहा कि इस रिकार्डिंग की फुटेज मीडिया को जारी की जाएगी। अधिकारियों ने इसका विरोध किया है और बाकायदा मुख्यमंत्री कार्यालय को चिट्ठी भेजकर उनसे संबंधित फुटेज सामान्य प्रशासन विभाग के पास जमा कराने को भी कहा है।

Author Published on: March 1, 2018 4:14 AM
राजधानी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की फाइल फोटो।

सूबे की सरकार और नौकरशाही के बीच जारी तकरार के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजनिवास जाकर उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की। उपराज्यपाल ने उन्हें एक बार फिर से यह नसीहत दी कि वे अधिकारियों से बातचीत करें क्योंकि जनहित में यह जरूरी है। हालांकि मुख्यमंत्री ने इस बैठक के बाद अधिकारियों के मुद्दे पर किसी भी किस्म की प्रतिक्रिया नहीं दी है।

उपराज्यपाल बैजल ने ट्वीट किया कि उनकी बुधवार को मुख्यमंत्री केजरीवाल से मुलाकाम हुई है। बैजल ने लिखा कि मुख्यमंत्री से मुलाकात के दरम्यान उन्होंने केजरीवाल को भरोसा दिलाया कि वे सरकार और कर्मचारियों के बीच पैदा हुए अविश्वास की स्थिति को समाप्त करने की अपनी ओर से पूरी कोशिश करेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री से फिर कहा कि वे अधिकारियों व कर्मचारियों से बातचीत करें ताकि मिलजुलकर एक बेहतर व सम्मानजनक माहौल में काम किया जा सके। दिलचस्प बात यह है कि उपराज्यपाल से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने भी ट्वीट किया लेकिन उन्होंने उपराज्यपाल से अधिकारियों के विरोध को लेकर चर्चा का कोई जिक्र अपने ट्वीट में नहीं किया। उन्होंने लिखा कि उपराज्यपाल से उन्होंने लोक निर्माण विभाग तथा सिंचाई बाढ़ नियंत्रण विभाग के नालों की सफाई के मुद्दे पर बातचीत की। इन नालों की सफाई के लिए जल्दी ही जमीन उपलब्ध होगी। दूसरी ओर उन्होंने लड़कियों को छेड़खानी से बचाने के लिए उपराज्यपाल से बात की।

केजरीवाल को भेजी नसीहत से नाराज सिसोदिया

उपराज्यपाल बैजल द्वारा मंगलवार को मुख्यमंत्री को भेजी गई नसीहत से नाराज उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आइएएस एसोसिएशन की तुलना खाप पंचायत से कर दी जो सरकार के लिए रोज नए फरमान जारी करता है। उन्होंने पत्र लिखकर उपराज्यपाल पर अधिकारियों का पक्ष लेने का आरोप लगाया। उन्होंने लिखा कि एक आइएएस अधिकारी के तमाम निकम्मेपन के बावजूद आप उसके आंसू पोछते हैं, उसे हौसला देते हैं। सिसोदिया ने लिखा कि उन्होंने इन अधिकारियों को खूब प्यार से समझा लिया लेकिन इसके बावजूद ये मान नहीं रहे है। उन्होंने यह भी लिखा कि बैजल को इस पूरे मामले को आइएएस के चश्मे से देखना बंद कर देना चाहिए। सिसोदिया ने आंगनवाड़ी कर्मचारियों को वेतन मिलने में देरी के लिए इन अधिकारियों को ही जिम्मेदार ठहराया है।

मुख्यमंत्री ने कराई मंत्रिमंडल बैठक की वीडियो रिकार्डिंग

दिल्ली के अगले बजट पर विचार करने के लिए मंगलवार को हुई बैठक की बाकायदा वीडियो रिकार्डिंग कराई गई। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों से कहा कि इस रिकार्डिंग की फुटेज मीडिया को जारी की जाएगी। अधिकारियों ने इसका विरोध किया है और बाकायदा मुख्यमंत्री कार्यालय को चिट्ठी भेजकर उनसे संबंधित फुटेज सामान्य प्रशासन विभाग के पास जमा कराने को भी कहा है। मुख्य सचिव के आदेश से सामान्य प्रशासन व गृह विभाग के प्रधान सचिव मनोज परीदा ने मुख्यमंत्री केजरीवाल को एक आधिकारिक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि जब वे मंत्रिमंडल की बैठक के लिए पहुंचे तो कैबिनेट रूम में दो वीडियो कैमरे बैठक की कार्यवाही रिकार्ड करने के लिए लगाए गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अब केनरा बैंक से 515 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी
2 हर्षवर्धन ने लोगों से सीधे संवाद के लिए शुरू किया ऐप
3 बदले की भावना से हुई कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी : कांग्रेस