यूपी के फिरोजाबाद में डेंगू और बुखार बेलगाम, अब तक 50 लोगों की गई जान; 3,719 अस्पताल में भर्ती, लापरवाही पर तीन डॉक्टर निलंबित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव (चिकित्सा शिक्षा) को निर्देश दिए हैं कि वह शुक्रवार से ही आगरा और फिरोजाबाद जनपद में शिविर लगाएं। इसके अलावा कोविड मरीजों के लिए आरक्षित ऑक्सीजन की सुविधा वाले ‘आइसोलेशन बेड्स’ को डेंगू सहित अन्य वायरल बीमारियों के इलाज के लिए उपलब्ध रखने के भी निर्देश दिए गए हैं।

Dengue and viral fever
फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज में मरीजों की जांच करते डॉक्टर। (एक्सप्रेस फोटो गजेंद्र यादव द्वारा)

फिरोजाबाद में बुखार व डेंगू से मरने वालों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 50 हो गई है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी दिनेश कुमार ने शुक्रवार सुबह जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि जिले में अब तक 50 लोगों की डेंगू और बुखार से मौत हो चुकी है। गुरुवार देर रात तक तीन और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या 47 से 50 पर पहुंच गई है।

उन्होंने यह भी बताया कि जनपद में दस क्षेत्रों की पहचान की गई है, जहां इन रोगों का प्रकोप है। इनमें नौ ब्लॉक व एक नगर निगम क्षेत्र है। उन्होंने बताया कि कुल 3,719 रोगी उपचाराधीन हैं, ज्वर से ग्रसित कुल रोगी 2,533 हैं। इस बीच, सदर विधायक मनीष असीजा ने बुखार और डेंगू से अब तक 61 लोगों की मौत होने का दावा किया है। विधायक के अनुसार वह क्षेत्र में लगातार घूम कर पीड़ित परिवारों से मिल रहे हैं और उनके परिवार में हुई मौतों की जानकारी जुटा रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव (चिकित्सा शिक्षा) को निर्देश दिए हैं कि वह शुक्रवार से ही आगरा और फिरोजाबाद जनपद में शिविर लगाएं। इसके अलावा कोविड मरीजों के लिए आरक्षित ऑक्सीजन की सुविधा वाले ‘आइसोलेशन बेड्स’ को डेंगू सहित अन्य वायरल बीमारियों के इलाज के लिए उपलब्ध रखने के भी निर्देश दिए गए हैं।

जनपद में वायरल बुखार और डेंगू से पीड़ित लोगों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी स्थिति को संभालने का लगातार प्रयास कर रहे हैं, वहीं जिला अधिकारी भी अपनी टीम के साथ घर-घर जाकर, जागरूकता अभियान चलाकर व उपचार की समीक्षा कर स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं। जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी चर्चित गौड़ को नोडल अधिकारी बनाया है। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने डेंगू एवं वायरल बुखार के बढ़ते प्रकोप के दौरान लापरवाही के चलते गुरुवार देर शाम तीन चिकित्सकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था।

जिलाधिकारी कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि चिकित्सक गिरीश श्रीवास्तव प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सैलई, डॉक्टर सौरव व डॉक्टर रुचि यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। पिछले लगभग दो सप्ताह से वायरल बुखार और डेंगू का प्रकोप फिरोजाबाद जनपद के शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में जारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 30 अगस्त को फिरोजाबाद पहुंचे थे और बीमारी से पीड़ित लोगों का हाल जानने के साथ-साथ इसे नियंत्रित करने के निर्देश दिए थे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।