ताज़ा खबर
 

सवर्णों का आरक्षण आंदोलन उग्र, भाजपा दफ्तर में तोड़फोड़ व हंगामा

आरक्षण से वंचित सवर्ण वर्ग का आंदोलन शुक्रवार को उग्र हो गया। आंदोलन में सबसे ज्यादा भागीदारी राजपूत करणी सेना के युवकों की थी।

Author नई दिल्ली | March 4, 2017 1:30 AM
करणी सेना के लीडर लोकेंद्र सिंह

आरक्षण से वंचित सवर्ण वर्ग का आंदोलन शुक्रवार को उग्र हो गया। आंदोलन में सबसे ज्यादा भागीदारी राजपूत करणी सेना के युवकों की थी। सवर्ण आरक्षण मंच की आरक्षण रैली के दौरान युवकों ने यहां भाजपा दफ्तर में जमकर तोड़फोड़ की और विधानसभा का घेराव किया।राजस्थान में सवर्ण वर्ग के आर्थिक पिछड़ों के लिए आरक्षण की मांग करने वाले संगठनों  ने सरकार के रवैए से नाराज होकर शुक्रवार को जयपुर में रैली और विधानसभा के घेराव का एलान किया था। आंदोलन में युवकों का भारी जमावड़ा होने से प्रशासन और पुलिस का भारी इंतजाम विधानसभा के बाहर था।

सरकार से नाराज युवक दोपहर बाद प्रदेश भाजपा मुख्यालय के बाहर जमा हो गए। डंडे और झंडों से लैस युवकों ने प्रदेश भाजपा दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर और होर्डिंग्स फाड़ दिए। गुस्साए युवकों ने वहां खड़े वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया। भाजपा दफतर में तोड़फोड़ और पथराव के बाद युवक विधानसभा के बाहर पहुंच गए। विधानसभा के बाहर रैली को राजपूत, ब्राहण, वैश्य, कायस्थ समाजों के नेताओं ने संबोधित किया। रैली में करीब पांच हजार से ज्यादा युवकों की भीड़ थी। रैली से पूरा शहर भी जाम हो गया और यातायात बिगड़ गया।

आरक्षण समर्थक नेताओं ने कहा कि सरकारी नौकरियों में सवर्ण वर्ग के युवक पिछड़ रहे हैं। ऐसे में इस वर्ग के आर्थिक पिछड़ों को आरक्षण देने का भाजपा सरकार अपना वादा पूरा करे। आंदोलनकारियों का आरोप था कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में आरक्षण का वादा किया था। इसे पूरा नहीं कर भाजपा वादाखिलाफी कर रही है। विधानसभा के बाहर भी माहौल पूरी तरह से तनावग्रस्त रहा। इस दौरान प्रशासन ने भारी संख्या में हथियारबंद पुलिस बल को तैनात कर दिया। भाजपा नेताओं का आरोप है कि उनके दफ्तर पर तोड़फोड़ कांग्रेस के नेताओं के इशारे पर की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App