scorecardresearch

एक-दूसरे से जुड़ेंगे दिल्ली के तीन मेट्रो स्टेशन

दिल्ली के तीन प्रमुख मेट्रो स्टेशन आपस में जुड़ेंगे और यात्री आराम से एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन तक पैदल ही आ-जा सकेंगे।

एक-दूसरे से जुड़ेंगे दिल्ली के तीन मेट्रो स्टेशन
प्रतीकात्मक तस्वीर।

इसके अलावा तीनों मेट्रो स्टेशनों को बस, टैक्सी, आटो व अन्य सुविधा से भी जोड़ जाएगा। इन स्टेशनों में झंडेवालान, राजेंद्र प्लेस और नांगलोई को शामिल किया गया है। मंगलवार को इस परियोजना को लागू करने के लिए उपराज्यपाल वीके सक्सेना की अध्यक्षता वाली यूनिफाइड ट्राफिक एंड ट्रांसपोर्टेशन इंफ्रास्ट्रक्चर सेंटर (यूटीपैक) ने इस योजना को मंजूरी दे दी है।

इसके अतिरिक्त अन्य विकास योजनाओं को भी बैठक में सहमति प्रदान की गई है। यूटीपैक किसी भी परियोजना को लागू करने की मंजूरी देने वाली अहम समिति है और इसकी अगुआई उपराज्यपाल करते हैं। उपराज्यपाल ने हाल ही में 59 मेट्रो स्टेशन पर परिवहन सेवाओं के बीच तालमेल की कमी को चिह्नित किया था।

इसके लिए संबंधित एजंसियां जैसे लोक निर्माण विभाग, दिल्ली नगर निगम, यातायात पुलिस और डीडीए को तालमेल स्थापित कर यहां पर यात्रियों की सुविधाओं को बढ़ाने के आदेश दिए थे। उपराज्यपाल ने संबंधित विभागों से ऐसे पांच स्टेशन की रिपोर्ट मांगी है, जहां पर सबसे अधिक यात्री होते हैं ताकि उनको भी इस कार्य योजना में शामिल किया जा सके।

यहां भी होगा सुधार

कड़कड़डूमा स्टेशन के लिए योजना मंजूर : कड़कड़डूमा स्टेशन पर यात्रियों की सुविधाएं बढ़ाने के लिए तैयार नई कार्य योजना को मंजूरी मिली है। हालांकि योजना में आठ दुकानों के अतिक्रमण का मामला सामने आ रहा है। यह मामला अदालत के समक्ष विचाराधीन है। द्वारका मोड़ से पालम मेट्रो स्टेशन : इस हिस्से को गंभीर क्षेत्र के तहत चिह्नित किया गया है। यहां पर डिप्लोमेटिक एन्क्लेव, मिनी खेल परिसर और भारत वंदना पार्क है। यहां वाहनों व यात्रियों के लिए अन्य वैकल्पिक मार्ग पर काम करने के दिशा निर्देश दिए हैं।

न्यू मोती बाग से जुड़ेगा साइकिल ट्रैक : नई दिल्ली क्षेत्र में साइकिल ट्रैक मोती बाग से शुरू होगी। इसके बाद यह ट्रैक साउथ ब्लाक, नार्थ ब्लाक, निर्माण भवन, शांति पथ, नीति मार्ग, कौटिल्य मार्ग, तीन मूर्ति मार्ग, कुशक रोड, राजा जी मार्ग, के कामराज मार्ग, मौलाना आजाद मार्ग, रफी मार्ग, संसद मार्ग और पंडित पंत मार्ग को जोड़ेगा।

द्वारका में लघु व दीर्घगामी योजना : यातायात भार कम करने के लिए द्वारका जोन (के-2) के लिए संबंधित एजंसियों को अल्पकालीन व दीर्घ कालीन योजनाओं पर काम करने की मंजूरी दी गई है। इसके दायरे में पांच चौराहे चिह्नित किए गए हैं। एम्स के लिए होगा अध्ययन : एम्स को विश्वस्तरीय मेडिकल विश्वविद्यालय बनाने के मद्देनजर जल्द ही यहां पर यातायात व अन्य स्थिति का अध्ययन होगा। अध्ययन रिपोर्ट तैयार करने के लिए यूटीपैक ने सहमति दी है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-09-2022 at 07:12:58 am
अपडेट