ताज़ा खबर
 

जानिए, क्यों 22 दिसंबर को साइकिल से कार्यालय जाएंगे CM अरविंद केजरीवाल?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कार फ्री डे के दौरान अपने कार्यालय साइकिल से जाएंगें।

Author नई दिल्ली | November 23, 2015 1:44 AM
(File Pic)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कार फ्री डे के दौरान अपने कार्यालय साइकिल से जाएंगें। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को घोषणा की कि उनकी सरकार 22 जनवरी को समूचे राष्ट्रीय राजधानी में ‘कार फ्री डे’ का आयोजन करेगी और उस दिन वह स्वयं भी साइकिल से अपने कार्यालय आएंगे।
रविवार को द्वारका सेक्टर तीन-13 और सेक्टर सात-नौ के बीच की सड़क पर हुए ‘कार फ्री डे’ के एक समारोह के दौरान आए जनसमूह को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने बताया कि उनकी सरकार ‘कार फ्री डे’ को प्रतीकात्मक रू प से अब हकीकत का रूप देना चाहती है। मुख्यमंत्री ने दिल्लीवासियों से अपने कार्यालय जाने के लिए कार के बजाय साइकिल या सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करने की अपील की।

केजरीवाल ने कहा कि 22 जनवरी को वे लोग समूची दिल्ली में कार फ्री डे का आयोजन करेंगे। वे लोगों से अपील करते हैं कि उस दिन वे अपने कार्यालय जाने के लिए साइकिल या सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करें। वे भी 22 जनवरी को साइकिल से अपने कार्यालय जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगर पांच से 10 फीसद लोगों ने भी उनकी अपील का अनुसरण किया और 22 जनवरी को साइकिल या सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल किया तो यह हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि होगी। उन्होंने बताया कि इस पहल को आगे आधार देने के लिए आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली में साइकिल ट्रैक बनाने पर काम कर रही है। दिल्ली सरकार इन दिनों हर महीने की 22 तारीख को अलग-अलग इलाकों के मार्गाें पर कार-फ्री डे का आयोजन करती है। परिवहन विभाग ने 22 अक्तूबर को लालकिला से इंडिया गेट के बीच ऐसे समारोह का आयोजन किया था। अगला कार-फ्री डे 22 दिसंबर को पूर्वी दिल्ली के पटपड़गंज इलाके में आयोजित होगा।

केजरीवाल ने बाद में ट्वीट किया कि 22 दिसंबर को पूर्वी दिल्ली में कार-फ्री डे होगा। आइए, 22 जनवरी को एक दिन के लिए वे सभी कार के बजाय साइकिल या सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करें और अपने कार्यालय जाएं। वे भी साइकिल से अपने कार्यालय जाएंगे। उन्होंने बताया कि 22 अक्तूबर को लालकिला और इंडिया गेट के बीच कार-फ्री डे के आयोजन के दौरान प्रदूषण के स्तर में 60 फीसद की कमी आई।

द्वारका इलाके में रविवार को आयोजित समारोह की शुरुआत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में साइकिल रैली से हुई। भारतीय प्रशासनिक सेवा (आइएएस), अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह सिविल सेवा (डीएएनआइसीएस) अधिकारी संघ और नेशनल साइकि लिस्ट यूनियने के सदस्यों ने भी इस साइकिल रैली में हिस्सा लिया। परिवहन मंत्री गोपाल राय ने इस अवसर पर कहा कि कार-फ्री डे पहल के लिए सरकार को लोगों से बहुत जबर्दस्त प्रतिक्रिया मिल रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि जब परिवहन मंत्री गोपाल राय ने हर महीने की 22 तारीख को कार-फ्री डे के आयोजन का फैसला किया तब उनके मन में दो शंकाएं थीं।

उन्होंने कहा कि पहली शंका यह थी कि क्या ऐसे आयोजनों में ज्यादा संख्या में लोग हिस्सा लेंगे और दूसरी यह थी कि क्या वे साइकिल चला पाएंगे। लेकिन मेरी दोनों शंकाएं साफ हो गईं क्योंकि ज्यादा संख्या में लोगों ने ‘कार-फ्री डे’ में हिस्सा लिया और वे भी साइकिल चला पाए। इस अवसर पर वहां मौजूद उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि हर घर में एक साइकिल जरूर होनी चाहिए। सिसोदिया ने कहा कि अक्तूबर और नवंबर में दो ‘कार-फ्री डे’ के आयोजन के साथ संपन्न लोगों सहित अधिकतर लोगों ने यह महसूस किया है कि वे भी साइकिल चला सकते हैं। साइकिल चलाने की लोगों की झिझक अब खत्म हो गई है।

सेक्टर तीन-13 और सेक्टर सात-नौ के बीच मार्ग में कुछ चौराहों पर रविवार को परिवहन विभाग के कर्मी और कार्यकर्ताओं ने अपना वाहन छोड़ने की पेशकश करने वालों को गुलाब का फूल भेंट किया। मुख्य सचिव केके शर्मा ने कहा कि शहर की हवा को स्वच्छ करने के लिए सरकार किसी भी कोने को नहीं छोड़ेगी। समारोह में आम आदमी पार्टी की महिला शाखा ने भी हिस्सा लिया। परिवहन मंत्री राय ने कहा कि यह सही है कि सार्वजनिक परिवहन ऐसे बेहतर हालत में नहीं हैं कि लोग अपनी कारें छोड़ सकें लेकिन दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए हमें इस संबंध में कुछ करना ही होगा। कार फ्री डे पर आयोजित रैली में नेशनल साइकिलिस्ट यूनियन के सदस्यों ने टेंडम साइकिल के साथ भाग लिया। उनकी साइकिलें लोगों के लिए इसलिए आकर्षण का केंद्र रहा कि यह साइकिल एक साथ दो लोग मिल कर चलाते हैं। यूनियन के सदस्य कार मुक्त को बढ़ावा देने के लिए पिछले कई सालों से अभियान चला रहे हैं।

दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने रविवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले कार फ्री डे का आयोजन पूर्वी दिल्ली के पटपड़गंज क्षेत्र में किया जाएगा। सरकार को यद्यपि अभी उस सड़क का चयन करना है, जहां आयोजन होगा। यह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आयोजित होने वाला यह तीसरा कार फ्री डे होगा।
पटपड़गंज से विधायक और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को 22 दिसंबर को आयोजित होने वाली इस पहल में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया गया है। राय ने यहां कहा, ‘हम अगले कार फ्री डे का आयोजन पूर्वी दिल्ली के पटपड़गंज में करेंगे। सरकार को इस पहल के लिए लोगों से काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।’
सिसोदिया ने ट्वीट किया, ‘सरकार जनता के सहयोग से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम करेगी। अगला कार फ्री डे का आयोजन मेरे विधानसभा क्षेत्र पटपड़गंज में किया जाएगा। आपका वहां स्वागत है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App