scorecardresearch

Covid Hospitalization: 14 दिनों में 60% का उछाल पर केजरीवाल नहीं लागू कर रहे ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान

Positivity Rate Increase in Delhi: आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में मौजूदा समय पॉजीटिविटी रेट 19.20 फीसदी हो गया है, जो बीते 200 दिनों में सबसे ज्यादा है।

Covid Hospitalization: 14 दिनों में 60% का उछाल पर केजरीवाल नहीं लागू कर रहे ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान
Delhi Corona Update: दिल्ली में बढ़ी कोरोना की पॉजीटिविटी दर (Photo- File)

COVID Cases Increase in Delhi: दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। एक अगस्त से कोरोना संक्रमण की वजह से अस्पतालों में भर्ती होने वालों की संख्या में 60 फीसदी का इजाफा हो गया है। आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में मौजूदा समय पॉजीटिविटी रेट 19.20 फीसदी हो गया है जो बीते 200 दिनों में सबसे ज्यादा है। दिल्ली सरकार के मुताबिक, भर्ती होने वालों में से कम से कम 90 फीसदी लोगों ने बूस्टर डोज नहीं लिए हैं। सबसे ज्यादा लोग मंगलवार को दिल्ली के अस्पतालों में भर्ती हुए हैं जब दिल्ली-एनसीआर 900 नए मामले सामने आए।

हालांकि ये आंकड़ा भी पिछले दिनों की तुलना में कम ही था क्योंकि 2 अगस्त को दिल्ली में 1,506 और 9 अगस्त को 2,495 मामले दर्ज किए गए थे। अब तक रिपोर्ट किए गए कुल मामलों की बात करें तो एक अगस्त के बाद से अब तक कोरोना की वजह से अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या 60 फीसदी का इजाफा हुआ है। मंगलवार (16 अगस्त) को दर्ज किए गए 917 मामलों में से 563 लोगों को दिल्ली के अस्पतालों में भर्ती कराया गया था और 202 लोगों को कोरोना संक्रमण की वजह से आईसीयू में भर्ती करवाया गया था। दिल्ली सरकार के जारी आंकड़ों से पता चलता है। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से 3 लोगों की मौत भी हो गई है।

2 अगस्त और 9 अगस्त को आए थे ज्यादा मामले

वहीं इसकी तुलना में 9 अगस्त को जब दिल्ली में 2,495 नए मामले आए थे और 7 लोगों की मौत भी हो गई थी तब महज 20 फीसदी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इसी तरह 2 अगस्त को अस्पताल में भर्ती होने का प्रतिशत उस दिन दर्ज किए गए 1,506 मामलों में से 20 फीसदी था। हालांकि अस्पतालों में भर्ती 341 में से 105 लोग गंभीर थे और उन्हें आईसीयू में भर्ती करवाया गया था।

दिल्ली सरकार नहीं लागू कर रही है GRAP प्लान

एनडीटीवी के मुताबिक लैंसेट कमीशन की सदस्य जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. सुनीला गर्ग ने बताया, “रिकवरी रेट अच्छा है लेकिन मामले बढ़ रहे हैं और अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या में तेजी आई है। 9,000 से अधिक (कोविड) बिस्तरों पर इस समय लोग भर्ती हो गए हैं। आईसीयू के 2,129 बेड में से 20 पर मरीज भर्ती हैं। इस समय 65 मरीज वेंटिलेशन पर हैं।” उन्होंने कहा, “घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन यह सावधानी का प्रतीक है।” सकारात्मकता दर में वृद्धि के बावजूद, शहर सरकार ने अभी तक दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा तैयार ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के कार्यान्वयन की घोषणा नहीं की है।

पिछले साल अगस्त में लागू हुआ था GRAP प्लान

ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) दिल्ली में पिछले साल अगस्त में लागू हुआ था जिसमें सरकार ने पॉजीटिविटि रेट और अस्पताल में बेड की उपलब्धता के आधार पर विभिन्न गतिविधियों को लॉक और अनलॉक करने के लिए किया था। दिल्ली ने 13 जनवरी को 28,867 के दैनिक कोविड ​​-19 मामलों के अपने अब तक के सबसे अधिक और महामारी की तीसरी लहर के दौरान एक दिन बाद 30.6 फीसदी सकारात्मकता की जानकारी दी थी।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.