ताज़ा खबर
 

Delhi Riots: ताहिर हुसैन के रेस्क्यू पर पुलिस का यू-टर्न, बोली- हमने नहीं बचाया; है फरार

हालांकि, मंगलवार को निष्कासित AAP निगम पार्षद की ओर से दिल्ली की एक अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दी गई, जिस पर बुधवार को सुनवाई होगी।

Delhi Riots, Tahir Hussain, Expelled AAP Councillor, AAP, Rescue, Delhi Police, PRO MS Randhawa, Ankit Sharma, Ankit Sharma Murder, Ankit Sharma Deadbody, Delhi News, National Newsदिल्ली हिंसा के बाद यमुनापार के एक नाले से IB कर्मचारी अंकित शर्मा की लाश मिली थी। इसी मामले में ताहिर हुसैन मुख्यारोपी है। (फाइल फोटो)

Delhi Riots में नाम आने के बाद AAP से निष्कासित निगम पार्षद ताहिर हुसैन के रेस्क्यू पर मंगलवार को पुलिस ने अपने ही बयान पर यू-टर्न ले लिया। राजधानी में पुलिस पीआरओ एमएस रंधावा ने समाचार एजेंसी ANI को बताया कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि हुसैन को पुलिस ने बचाया (हिंसा और बवाल के दौरान) था, पर असल में यह तथ्य गलत है। उनके मुताबिक, “24 फरवरी की रात हमें सूचना मिली थी कि हुसैन फंसे हुए हैं, पर पुलिस जब मौके पर पहुंची तब वह अपने घर पर थे।”

रंधावा ने यह भी कहा कि 26 फरवरी को जब IB के सिक्योरिटी असिस्टेंट अंकित शर्मा की लाश मिली थी और उनके परिजन ने आरोप लगाए थे, तभी ताहिर इस मामले में मुख्यारोपी बन गए थे। ताहिर के घर की तलाशी के बाद कुछ सबूत जुटाए गए थे। फिलहाल पुलिस छापेमारी कर हुसैन को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के प्रयास में जुटी है।

पुलिस की हालिया सफाई से पहले एसीपी अजीत सिंगला ने कहा था, “मैंने और मेरी टीम ने राजनेता (हुसैन) को पिछले सोमवार आए एक एसओएस कॉल के बाद रेस्क्यू कराया था।” अंकित के पिता रविंदर द्वारा दी गई FIR में आरोप है कि हिंसा वाले दिन गुंडों ने हुसैन की छत से फायरिंग की थी और पेट्रोल बम फेंके थे।

ताहिर के घर की छत से पुलिस को हिंसा के बाद एक बड़ी गुलेल और पेट्रोल बम भी बरामद हुए थे। मामले में ढेरों सवाल उठने के बाद से वह फरार हैं। हालांकि, मंगलवार को उनकी ओर से दिल्ली की एक अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दी गई, जिस पर बुधवार को सुनवाई होगी।

1400 से अधिक शिकंजे मेंः दिल्ली हिंसा में 3 मार्च, 2020 तक 436 एफआईआर दर्ज की गईं, जबकि 1427 लोगों को गिरफ्तार या हिरासत में लिया गया। पुलिस अधिकारियों के हवाले से समाचार एजेंसी PTI-Bhasha की रिपोर्ट में कहा गया- इनमें 45 मामले शस्त्र कानून के तहत दर्ज किए गए हैं। पीसीआर (पुलिस कंट्रोल रूम) को पिछले छह दिनों में दंगे से संबंधित कोई फोन नहीं आया। दंगा प्रभावित इलाकों में हालात फिलहाल काबू हैं।

UP से धराया शाहरुखः हिंसा के दौरान जाफराबाद में फायरिंग कर दहशत फैलाने वाले शाहरुख मंगलवार को यूपी के शामली जिले से अरेस्ट कर दिल्ली लाया गया। उसे चार दिनों की पुलिस रिमांड में भेजा गया है। पुलिस पूछताछ में उसने कबूला है कि उस हिंसा के दौरान गुस्सा आ गया था, जिसके बाद उसने तीन राउंड फायर किए थे। पुलिस के अनुसार, “फायरिंग का आरोपी कॉलेज ड्रॉपआउट है। मॉडलिंग का शौकीन है और टिकटॉक वीडियो बनाता है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली हिंसा पर चर्चा की मांग, राज्यसभा बुधवार 11 बजे तक के लिए स्थगित, ओम बिरला बोले- होली के बाद बात करेंगे
ये पढ़ा क्या?
X