ताज़ा खबर
 

सुनंदा पुष्कर हत्याकांड में दिल्ली पुलिस मुझे फंसाना चाहती है: शशि थरूर

सुनंदा पुष्कर की सनसनीखेज मौत के संबंध में नई नई बातें सामने आने के बीच यह भी पता चला है कि उनके पति और कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने गत नवंबर में दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया था कि वह उनके घरेलू नौकर को ‘बार बार शरीरिक रूप से प्रताड़ित कर रही है’ और ‘धमका […]
Author January 7, 2015 18:52 pm
Shashi Tharoor ने ट्वीट में कहा, ‘‘मेरे बारे में मीडिया में खासकर केरल के चैनलों पर झूठी खबरें चलायी गयीं।

सुनंदा पुष्कर की सनसनीखेज मौत के संबंध में नई नई बातें सामने आने के बीच यह भी पता चला है कि उनके पति और कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने गत नवंबर में दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया था कि वह उनके घरेलू नौकर को ‘बार बार शरीरिक रूप से प्रताड़ित कर रही है’ और ‘धमका रही है’ ताकि वह इस बात को स्वीकार कर ले कि उन्होंने और उनके नौकर ने उनकी (सुनंदा) हत्या की है।

दिल्ली पुलिस के आयुक्त बी एस बस्सी को पिछले वर्ष 12 नवंबर को लिखे पत्र में थरूर ने कहा था कि दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी की ओर से उनके घरेलू नौकर नारायण सिंह के प्रति ऐसा अचरण पूरी तरह से अस्वीकार्य और अवैध है।

थरूर ने कहा कि वह और उनके कर्मचारी ने मामले की जांच में पुलिस के साथ पूरा सहयोग किया था। थरूर ने अपने पत्र में कहा, ‘‘इसलिए मैं यह जानकर स्तब्ध हूं कि शुक्रवार 7 नवंबर 2014 को दिल्ली पुलिस के चार अधिकारियों की पूछताछ और फिर 8 नवंबर 2014 को 14 घंटे की पूछताछ के दौरान मेरे घरेलू नौकर नारायण सिंह को आपके एक अधिकारी ने बार बार शरीरिक तौर पर प्रताड़ित किया।’’

उन्होंने अपने पत्र में लिखा था, ‘‘ इसमें सबसे खराब बात यह हुई कि अधिकारी ने नारायण को डराने के लिए शरीरिक रूप से प्रताड़ित किया ताकि वह यह स्वीकार कर लें कि उसने (घरेलू नौकर) और मैंने अपनी पत्नी (सुनंदा) की हत्या की थी।’’

थरूर ने 8 नवंबर को बस्सी के साथ टेलीफोन पर हुई अपनी बातचीत का भी हवाला दिया जब उन्होंने पुलिस की कथित कार्रवाई के बारे में चिंता व्यक्त की थी। थरूर ने अपने पत्र में लिखा था, ‘‘आप इस बात को स्वीकार करेंगे कि ऐसा आचरण पूरी तरह से अस्वीकार्य और अवैध है। यह निर्दोष व्यक्ति को फंसाने के लिए शारीरिक बल प्रयोग का मामला बनता है। मैं आपसे अधिकारी के ऐसे गैर कानूनी आचरण के लिए तत्काल और उपयुक्त कार्रवाई करने का आग्रह करता हूं।’’

दिल्ली पुलिस ने कल सुनंदा की मौत के मामले में एम्स की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि उसकी मौत अप्राकृतिक है और जहर के कारण हुई है। लेकिन किसी को अभी तक संदिग्ध नहीं बनाया गया है। इस संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष 17 जनवरी को राष्ट्रीय राजधानी में एक पंच सितारा होटल में 51 वर्षीय सुनंदा मृत पायी गई थी।

बहरहाल, थरूर के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर बस्सी ने कहा, ‘‘ अगर ऐसी कोई बात है, तो हम निश्चित तौर पर इस पर ध्यान देंगे।’’

अपने पत्र में थरूर ने दिल्ली पुलिस में पूरी आस्था जतायी और कहा था कि वह जांच में सहयोग करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं लेकिन अधिकारियों का मेरे कर्मचारियों के प्रति हाल का व्यवहार चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा, ‘‘कृपया इस मामले को व्यक्तिगत तौर पर देखें और यह सुनिश्चित करें कि इस मामले में सच्चाई सामने आए। मैं और मेरा परिवार दिल्ली पुलिस की जांच के परिणामों का बेसब्री से प्रतीक्षा कर रहे हैं।’’

कल थरूर ने अपने बयान में कहा था कि वह सुनंदा की मौत के मामले में दिल्ली पुलिस के हत्या का मामला दर्ज करने के स्तब्ध है और जांचकर्ताओं से पूरा ब्यौरा मांगा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App