ताज़ा खबर
 

नहर में डूब रही थी गाय, बचाने के लिए पुलिसवाले ने लगा दी छलांग

मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने एक रस्सी से गाय को खींचने की कोशिश की, लेकिन रस्सी गाय के पैर में फंस गई, जिससे हालात और भी ज्यादा खराब हो गए।

दिल्ली के रोहिणी में मुनक नहर की घटना। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली पुलिस के एक एसआई ने जीवटता और मानवता की बेहतरीन मिसाल पेश करते हुए एक डूबती हुई गाय को बचाने के लिए जान की बाजी लगा दी। एसआई की यह कोशिश रंग लायी और कुछ और लोगों की मदद से गाय को सुरक्षित नहर से निकाल लिया गया। यह घटना दिल्ली के रोहिणी इलाके की है, जहां एक गाय मुनक नहर में डूब रही थी और काफी मुश्किलों के बाद भी वह बाहर नहीं निकल पा रही थी। इसके बाद घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने घटनास्थल के पास मौजूद पीसीआर को इसकी सूचना दी। इस पीसीआर के इन्चार्ज दिल्ली पुलिस के एसआई 59 वर्षीय रामवीर सिंह थे। सूचना मिलते ही रामवीर सिंह पीसीआर समेत मौके पर पहुंचे।

एनबीटी की एक खबर के अनुसार, गाय मुनक नहर में 10-12 फुट गहरे पानी में फंसी हुई थी। नहर के किनारे पक्के होने के चलते गाय नहर से बाहर नहीं निकल पा रही थी। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने एक रस्सी से गाय को खींचने की कोशिश की, लेकिन रस्सी गाय के पैर में फंस गई, जिससे हालात और भी ज्यादा खराब हो गए। इस पर एसआई रामवीर सिंह ने आव देखा ना ताव और वर्दी उतारकर नहर में कूद गए। हालांकि नहर के किनारों पर ढलान कम होने के चलते गाय को बाहर निकालने में परेशानी आ रही थी। तभी मौके पर मौजूद क्रेन ऑपरेटर सईद अंसारी मदद के लिए आगे आए और उन्होंने अपनी हाइड्रोलिक क्रेन मंगवाई और क्रेन की मदद से गाय के शरीर पर बेल्ट बांधा गया और फिर गाय को खींचकर नहर से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

गाय को बचाने के लिए नहर में छलांग लगाने वाले एसआई रामवीर सिंह की बहादुरी की मौके पर मौजूद लोगों ने खूब तारीफ की। बता दें कि हाल ही में मध्य प्रदेश में भी ऐसी ही घटना देखने को मिली थी। जहां कलारना-कैनाल रोड पर चंबल नहर में एक गाय पानी पीते हुए फिसलकर नहर में गिर गई। दरअसल इस नहर के भी किनारे पक्के थे, जिससे गाय फिसल गई। जब राहगीरों ने गाय को नहर में बहते देखा तो वह गाय की मदद के लिए आगे आए और काफी देर की मशक्कत के बाद गाय को नहर से बाहर निकाल लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App