ताज़ा खबर
 

लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस में फिर दर्ज हुआ दिल्ली पुलिस का नाम, ये है बड़ी वजह

दो लाख महिलाओं व लड़कियों को सेल्फ डिफेंस (आत्मरक्षा) की ट्रेनिंग देने पर दिल्ली पुलिस का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस में दर्ज किया गया है।

Author Published on: December 13, 2018 8:20 AM
दिल्ली पुलिस का प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली पुलिस अक्सर सुर्खियों में रहती है। ऐसे ही एक बार फिर दिल्ली पुलिस सुर्खियों में है और इस बार वजह है लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस। दरअसल दो लाख महिलाओं व लड़कियों को सेल्फ डिफेंस (आत्मरक्षा) की ट्रेनिंग देने पर दिल्ली पुलिस का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस में दर्ज किया गया है।

कितनों को दी है ट्रेनिंग
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने 2017 में 2,08,125 (दो लाख आठ हजार और एक सौ पच्चीस) महिलाओं व लड़कियों को सेल्फ डिफेंस (आत्मरक्षा) की ट्रेनिंग दी है।

क्या है सेल्फ डिफेंस प्रोग्राम
दरअसल स्पेशल पुलिस यूनिट फॉर वीमेन व चिल्ड्रन (एसपीयूडब्लूएसी, SPUWAC) ने वर्ष 2002 में आत्मरक्षा कार्यक्रम को शुरु किया था। तब से लेकर नवंबर, 2018 तक कुल 9,80,456 (नौ लाख अस्सी हजार चार सौ छप्पन) महिलाओं व लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जा चुकी है।

फरवरी 2019 में मिलेगा अवॉर्ड
अतिरिक्त प्रवक्ता अनिल मित्तल ने बताया कि लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस की ओर से नाम दर्ज किए जाने का बुधवार को मेल भेजा गया है। वहीं दिल्ली पुलिस को फरवरी 2009 में अवॉर्ड मिलेगा। स्पेशल पुलिस यूनिट फॉर वीमेन व चिल्ड्रन (एसपीयूडब्लूएसी) की डीसीपी गीता रानी वर्मा का कहना है कि हालांकि दिल्ली पुलिस ने महिलाओं को ट्रेनिंग अवॉर्ड के लिए नहीं दी है। टारगेट को पूरा करने के बाद ये अवॉर्ड मिला है और बेशक इससे आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी हुई है। आने वाले सालों में भी ये कार्यक्रम जारी रहेगा।

क्या है 2019 का लक्ष्य
स्पेशल पुलिस यूनिट फॉर वीमेन व चिल्ड्रन (एसपीयूडब्लूएसी) की डीसीपी गीता रानी वर्मा ने बताया कि 2019 में साढ़े लीन लाख महिलाओं व लड़कियों को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग देने का टारगेट हमने रखा है। गौरतलब है कि इससे पहले 2016 में भी दिल्ली पुलिस का लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्डस में नाम दर्ज हुआ है। वहीं नवंबर 2015, में सबसे बड़ी चोरी का राज खोलने और सबसे ज्यादा रुपए की बरामदगी के लिए नाम दर्ज किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 हाई कोर्ट के जज की राय- भारत को घोषित कर देना चाहिए था हिंदू राष्ट्र, रजिस्ट्रार ऑफ सिटिजंस की अपडेशन पर उठाए सवाल
2 जीएसटी में 262 करोड़ का फर्जीवाड़ा, मामला दर्ज