ताज़ा खबर
 

2 महीने से लापता था दिल्ली पुलिस का इकलौता हाथी Laxmi, पूरे देश में मची ढूंढ, जानिए कैसे मिला?

हाथी लक्ष्मी और उसके मालिक यूसुफ अली पिछले दो महीने से दिल्ली में ही हैं। बता दें कि दिल्ली पुलिस को दोनों की तलाश है।

Author दिल्ली | Updated: September 18, 2019 11:29 AM
हाथी लक्ष्मी (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस- प्रवीण खन्ना)

दिल्ली में रहने वाली 35 वर्षिय हाथी लक्ष्मी और उसके मालिक यूसुफ अली का आखिर कार पता चल ही गया है। करीब दो महीने 06 जुलाई से लापता रहने के बाद लक्ष्मी दिल्ली में ही मिली। बता दें कि लक्ष्मी के मालिक यूसुफ पर वन अधिकारियों द्वारा एफआईआर दर्ज किया गया था तबसे वह लक्ष्मी के साथ फरार फिर रहा है। दरअसल, कोर्ट ने अली को ऑर्डर दिया था कि लक्ष्मी को वन विभाग को सौंप दें। अली का आरोप है कि लक्ष्मी को जब तक वह सौंपता उससे पहले लक्ष्मी को लेने आए वन विभाग के अधिकारी उसके परिवार के साथ मार पीट कर डाले।

वारडेन ने हाथियों को वन विभाग को सौंपने को कहाः जनवरी 2016 में चीफ वाइल्ड लाइफ वारडेन द्वारा गठित एक कमीटी ने एक रिपोर्ट जारी किया था जिसमें यह कहा गया था कि देश की राजधानी दिल्ली में ऐसे छह पालतू हाथी हैं जिनकी पालन पोशण ठीक से नहीं हो रही है। ऐसे में इनकी यह हालत केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय द्वारा 2008 के दिशानिर्देश का सीधा उलंघन है।

National Hindi News 17 September 2019 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

वन विभाग और अली के परिवार के बीच हुई मार पीटः अप्रील 2017 में उन हाथियों को सात दिन के अंदर वन विभाग को सौंपने को कहा गया। अली ने जब लक्ष्मी को नहीं सौंपा तो 01 जुलाई 2019 को वन विभाग ने लक्ष्मी को अपने कब्जा में लेने के लिए उसके घर पहुंची। अली के घर से लक्ष्मी नहीं मिलने पर और उसके परिवार वालों के साथ मारपीट के बाद वन विभाग ने दिल्ली पुलिस की मदद ली। पुलिस तब से हाथी लक्ष्मी और उसके मालिक को खोज रही है।

अली ने लगाया वन विभाग पर आरोपः मामले में अली का आरोप है कि वन विभाग ने उसके घर वालों के साथ मार पीट की है। उसके परिवार वालों का कहना है कि वन विभाग ने पहले मारपीट शुरु की थी। अपने बचाव में अली के परिवार वालों से भी झड़प हुई जिसके बाद वन विभाग ने मामला दर्ज करवाकर उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। बता दें कि मामले में अली और उसके परिवार वालों पर धारा 353 और 186 के तहत मामला दर्ज है।

क्या कहना है अली काः मामले में का कहना है कि उस पर मामले दर्ज होने के कारण वह लक्ष्मी को लेकर जगह जगह छिपना पड़ रहा है। उसका यह भी कहना है कि जब से वह लक्ष्मी के साथ फरार है तब से वह दिल्ली में ही था। वह पुलिस से बचने के लिए केवल अपना जगह और मोबइल नंबर बदल रहा है। वह फिलहाल लक्ष्मी को अपने दोस्त के फार्म में रखा है और उसकी पूरी देखभाल करता है। बता दें कि यह मामला अब कोर्ट में है। अली का कहना है कि उसको लक्ष्मी से काफी लगाव है। उसका यह भी कहना है कि कोर्ट का जो फैसला है उसे वह मानेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Saradha scam case: हाथ नहीं आ रहे कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त, CBI ने बनाया विशेष दल
2 ONGC पर 2.05 करोड़ रुपये का जुर्माना, असम में पर्यावरण नियमों का किया था उल्लंघन
3 एक करोड़ मुस्लिम युवाओं को जमीयत देगा ट्रेनिंग, 10 साल का बनाया लक्ष्य
जस्‍ट नाउ
X