ताज़ा खबर
 

स्मृति ईरानी के साथ बदसलूकी: चार के खिलाफ पुलिस ने दायर की चार्जशीट, पीछा करने, डराने समेत कई धाराएं

जब स्मृति ईरानी दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से चाणक्यपुरी स्थित होटल अशोका लौट रही थी, उसी दौरान 4 युवकों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया। पुलिस ने चारों आरोपियों को घूरने, अपराधिक प्रवृत्ति और अपराधिक इरादा रखने और एक महिला की शालीनता की बेइज्जती करने का आरोपी बनाया है।

स्मृति ईरानी। (express photo)

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के साथ छेड़छाड़ और दुर्व्यवहार के आरोपी 4 युवकों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट दाखिल किया है। बता दें, बीते साल जब स्मृति ईरानी दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से चाणक्यपुरी स्थित होटल अशोका लौट रही थी, उसी दौरान 4 युवकों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया। पुलिस ने चारों आरोपियों को घूरने, पीछा करने, अापराधिक प्रवृत्ति और अापराधिक इरादा रखने के साथ ही एक महिला की शालीनता की बेइज्जती करने और डराने का आरोपी बनाया है।

बता दें कि केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी बीते साल अप्रैल माह में इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से चाणक्यपुरी स्थित होटल अशोका जा रही थीं। जैसे ही स्मृति ईरानी का काफिला चाणक्यपुरी में म्यांमार दूतावास के नजदीक पहुंचा, वैसे ही सेंट्रो कार में सवार 4 युवक, जिनकी उम्र 18-19 साल के बीच थी, केन्द्रीय मंत्री को घूरना और दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया। इस पर केन्द्रीय मंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने इसकी शिकायत पुलिस को कर दी। शिकायत मिलने पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देखकर चारों आरोपियों ने भागना शुरू कर दिया। इस पर पुलिस ने करीब 1 किलोमीटर तक पीछा करके चारों आरोपियों को हिरासत में ले लिया। इसके बाद आरोपियों को मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां आरोपियों के शराब के नशे में होने की पुष्टि हुई।

चारों आरोपी दिल्ली यूनिवर्सिटी के राम लाल आनंद कॉलेज के छात्र हैं। पूछताछ में पता चला कि जिस वक्त उन्होंने केन्द्रीय मंत्री के साथ बदसलूकी की, उस वक्त वे एक बर्थडे पार्टी से वापस लौट रहे थे। इसके बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि, कुछ समय बाद ही आरोपियों को जमानत पर छोड़ दिया गया। अब दिल्ली पुलिस ने इस मामले में अदालत में चार्जशीट दाखिल की है। चारों को अधिकतम 3 साल की सजा हो सकती है। इससे पहले केन्द्रीय मंत्री हाल ही में उस वक्त चर्चा में थीं, जब यह खबर आयी थी कि स्मृति ईरानी का सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय टेलीविजन सेट टॉप बॉक्स में एक चिप लगाने की योजना पर काम कर रहा है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि लोग किन चैनलों को ज्यादा देख रहे हैं, जिससे उन्हें प्रमोट किया जा सके। हालांकि, विपक्षी पार्टियों ने सरकार के इस कदम को लोगों की निजता का हनन करार दिया था। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा था कि स्मृति ईरानी जी यह जानना चाहती हैं कि लोग टीवी पर क्या देख रहे हैं, वो भी बिना लोगों की जानकारी के, बिना उनकी इजाजत के, क्यों ?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App