ताज़ा खबर
 

वीडियो: दिल्‍ली सीएम आवास पर पहुंची पुलिस ने पूछा- कमरे की पुताई कब हुई थी, टॉयलेट कहां है?

दिल्‍ली पुलिस सीसीटीवी फुटेज लेने के लिए मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर गई थी। पुलिस 21 सीसीटीवी कैमरों के हार्ड डिस्‍क अपने साथ ले गई है। आईएएस अधिकारियों द्वारा हड़ताल करने की घोषणा पर पार्टी ने तल्‍ख टिप्‍पणी की है।

Author नई दिल्‍ली | February 23, 2018 9:13 PM
अरविंद केजरीवाल के घर का मुआयना करते दिल्‍ली पुलिस के अधिकारी। (फोटो सोर्स: AAP के ट्विटर अकाउंट से)

दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में दिल्‍ली पुलिस ने मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर जाकर छानबीन की। दिल्‍ली पुलिस की टीम सीएम आवास पर सीसीटीवी फुटेज लेने गई, लेकिन पुलिस अधिकारी वहां मौजूद लोगों से अजीबोगरीब सवाल पूछने लगे। आम आदमी पार्टी की ओर से जारी वीडियो में दिल्‍ली पुलिस के एक अधिकारी काे सीएम के आवास के बारे में जानकारी मांगते हुए देखा जा सकता है। वह केयरटेकर के बारे में पूछने लगे, जिससे केजरीवाल के आवास का ब्‍योरा हासिल किया जा सके। पुलिस अधिकारी ने वहां मौजूद लोगों से पूछा कि यदि घर में प्‍लास्‍टर या पुताई के बारे में जानकारी हासिल करना हो तो इसके बारे में कौन बताएगा। इस पर एक व्‍यक्ति ने उन्‍हें बताया कि यह सब पीडब्‍ल्‍यूडी का काम है। दिल्‍ली पुलिस के अधिकारी ने टॉयलेट तक के बारे में जानकारी मांगी। बाद में उन्‍हें सीएम हाउस की देखभाल करने वाले व्‍यक्ति से मिलवाया गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दिल्‍ली पुलिस केजरीवाल के आवास से 21 सीसीटीवी कैमरों के हार्ड डिस्‍क अपने साथ ले गई है। बता दें कि दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश मुख्‍यमंत्री केजरीवाल के आवास पर 19 फरवरी को एक बैठक में हिस्‍सा लेने गए थे। उन्‍होंने आरोप लगाया कि सीएम के सामने आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी।

अंशु प्रकाश के साथ मारपीट की घटना के तूल पकड़ने के बाद आईएएस अधिकारियों ने काम नहीं करने की घोषणा की थी। AAP ने नौकरशाहों के इस रवैये पर भी कड़ी आपत्ति जताई। सौरभ भारद्वाज ने कहा, “नौकरशाह अपनी नौकरी से बंधे हुए हैं। केंद्र सरकार का संरक्षण प्राप्‍त न हो तो क्‍या औकात है किसी नौकरशाह कि वे हड़ताल पर चले जाएं। जब नौकरशाह की बेटी से बलात्‍कार करने की कोशिश की जाती है तो उसके लिए एक भी अधिकारी छुट्टी नहीं लेता है। आईएएस एसोसिएशन की बैठक तक नहीं होती है…तब इन आईएएस अफसरों को शर्म नहीं आती है। मुझे लगता है, ऐसे में ये लोग घर जाकर अपनी बेटियों को क्‍या शक्‍ल दिखाते होंगे? जनता जब काम के सिलसिले में मेरे पास आएगी तो हम उन्‍हें उपराज्‍यपाल के पास लेकर जाएंगे।” अंशु प्रकाश के आरोपों पर AAP नेता ने कहा कि दिल्ली में राशन व्‍यवस्‍था को खराब करने की सुपारी अगर किसी अफसर ने ले रखी है तो ऐसे में क्‍यों न माना जाए कि वह खुद को बचाने के लिए ऐसे आरोप लगा रहा है। बता दें कि दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट का मामला तूल पकड़ चुका है। AAP इस मामले में केंद्र की नरेंद्र मोदी पर सीधा आरोप लगा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App