ताज़ा खबर
 

दिल्ली पुलिस ने लुंगी-कुर्ता पहन ATM लुटेरे को बनाया ‘अप्रैल फूल’, यूं उगलवाया पूरा प्लान

असलम पुलिस अधिकारियों को पहचान नहीं पाया और उसने अपना नाम, पता और पूरी योजना बता दी।' असलम की पहचान को क्रॉस चेक करने के बाद पुलिस ने उसे वहीं पकड़ लिया और कहा, 'अप्रैल फूल बनाया।'

Author Published on: April 4, 2019 2:25 PM
दिल्ली पुलिस (प्रतीकात्मक तस्वीर- एक्सप्रेस फाइल)

अप्रैल फूल मनाने का सिलसिला सिर्फ अब मजाक तक सीमित नहीं रहा। दिल्ली पुलिस ने एक एटीएम लुटेरे के साथ भी यह मजेदार खेल खेला और एक बड़ी वारदात को अंजाम तक पहुंचने से रोक दिया। मामला पश्चिमी दिल्ली के उत्तम नगर इलाके का है। पुलिस के मुताबिक, यहां कुछ लोग एटीएम लूटने की योजना बना रहे थे। वे रेकी भी कर चुके थे, लेकिन अनजाने में एक लुटेरे ने अपनी पूरी योजना पुलिस के सामने उगल दी। रोचक बात यह है कि पुलिस को पूरा प्लान बताते समय बदमाश सोचता रहा कि वह अपनी ही तरह किसी चोर-लुटेरों के गिरोह को जानकारी दे रहा है।

यूं बनाया अप्रैल फूलः पुलिस के मुताबिक, ‘हरियाणा के मेवात का रहने वाला असलम गाजियाबाद के लोनी में रह रहा था। उस पर गैस कटर का इस्तेमाल कर एटीएम को उखाड़ने और पैसे चुराने का आरोप है।’ डीसीपी (द्वारका) एंटो अल्फोंस के मुताबिक, ‘असलम को एक अप्रैल के दिन उत्तम नगर इलाके से पकड़ा गया, जहां वह रात करीब 9 बजे रेकी के लिए आया था। वहां नए गैंग के रूप में लुंगी-कुर्ता पहनकर पुलिस भी खड़ी हो गई। पुलिस अधिकारियों को इस भेष में असलम पहचान नहीं पाया और उसने अपना नाम, पता और पूरी योजना बता दी।’ असलम की पहचान को क्रॉस चेक करने के बाद पुलिस ने उसे वहीं पकड़ लिया और कहा, ‘अप्रैल फूल बनाया।’

National Hindi News, 4 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

हर बार बताता था नया नामः डीसीपी ने बताया, ‘2012 में असलम ने अपने साथियों के साथ मिलकर दिल्ली के मौर्या एनक्लेव में एटीएम लूटने का प्रयास किया था। उस दौरान गार्ड ने गोली चला दी। इस घटनाक्रम में असलम का एक साथी मारा गया। बाद में असलम को गिरफ्तार कर लिया गया था।’ असलम ने 2017 के दौरान कोर्ट में पेश होना बंद कर दिया, जिसके बाद वह वांछित घोषित कर दिया गया था। वह रेकी करने के बाद एटीएम की सूची बनाता था और फिर उन्हें लूटने का प्लान बनाता था। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। वह हर बार पकड़े जाने पर नया नाम बताता था, ताकि कम सजा हो और जल्दी छूट जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X