ताज़ा खबर
 

Delhi Metro: 3 नए रूट, 46 स्टेशन और 62 किमी का ट्रैक, लोकसभा चुनाव के बाद शुरू होगा काम!

Lok Sabha Election 2019 के बाद दिल्ली वालों को एक और गुड न्यूज मिल सकती है। डीएमआरसी ने तैयारी पूरी कर ली है, बस सरकार की तरफ से औपचारिक मंजूरी का इंतजार है। जल्द ही काम शुरू होने की उम्मीद है।

Delhi Metroदिल्ली मेट्रो (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

तेज रफ्तार से विस्तार की तरफ बढ़ रही दिल्ली मेट्रो को जल्द ही तीन नए रूट और मिलने वाले हैं। इस फेज में कुल छह रूट प्रस्तावित थे लेकिन फिलहाल तीन पर काम शुरू होने की संभावना है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक लोकसभा चुनाव के बाद चौथे फेज की तीन लाइनों को और औपचारिक मंजूरी मिल जाएगी। कंस्ट्रक्शन के टेंडर दो हफ्तों में जारी होने की संभावना है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डीएमआरसी (दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन) ने टेंडर डॉक्यूमेंट तैयार करने शुरू कर दिए हैं।

ये होंगे मेट्रो के नए रूटः तीन नए रूट में एयरोसिटी से तुगलकाबाद, जनकपुरी वेस्ट से आरके आश्रम और मुकुंदपुर से मौजपुर शामिल हैं। इन रूट्स पर कुल 46 स्टेशन बनाए जाने हैं। कुल 61.679 किमी लंबा ट्रैक बनेगा। उल्लेखनीय है कि फिलहाल दिल्ली मेट्रो में करीब 271 स्टेशन हैं, जिन्हें जोड़ने के लिए 373 किमी का ट्रैक बना हुआ है। इन नए ट्रैक को मिलाकर स्टेशनों की संख्या 317 हो जाएगी, वहीं ट्रैक की लंबाई करीब 435 किमी हो जाएगी।

National Hindi News Today LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

चार से छह महीनों में काम शुरूः डीएआरसी फिलहाल फील्ड सर्वे भी करवा रही है ताकि रूट के हिसाब से जरूरी शिफ्टिंग पर भी प्लानिंग की जा सके। कॉर्पोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर मंगू सिंह के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक तीनों लाइनों पर काम के लिए सीनियर अधिकारियों की तैनाती कर दी गई है। उनके मुताबिक चार से छह महीनों में जमीनी काम शुरू हो जाएगा।

 

फिलहाल अटके हैं ये तीन रूटः इसके अलावा जिन तीन लाइनों पर अभी मामला अटका हुआ है उनमें लाजपत नगर से साकेत जी ब्लॉक, इंद्रलोक से इंद्रप्रस्थ, रिठाला से बवाना और नरेला शामिल है। तीनों लाइनों की कुल लंबाई 42.27 किमी. है। इन पर कुल 33 नए मेट्रो स्टेशन बनाए जाने हैं। ये लाइन बनने से बाहरी दिल्ली से जुड़े ग्रामीण इलाकों के लोगों को काफी राहत मिलेगी।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: दिल्ली सांसदों ने सबसे ज्यादा लगाई हाजिरी, 16वीं लोकसभा में 312 बैठकों में से 221 में रहे मौजूद
2 Lok Sabha elections 2019: गठबंधन के इंतजार में फंसी भाजपा की सूची
3 ‘देशहित में रिकॉर्ड करते हैं फोन’, मोदी सरकार ने दिल्‍ली हाई कोर्ट में कहा
ये पढ़ा क्या?
X