ताज़ा खबर
 

MCD चुनाव नतीजे 2017: अपने क्षेत्र में खराब प्रदर्शन के बाद AAP विधायक अलका लांबा ने की इस्तीफे की पेशकश

MCD Election Result 2017: दिल्ली एमसीडी चुनाव 23 अप्रैल को हुए थे, जिसमें 270 वार्डों के लिए वोटिंग हुई थी।

Author Updated: April 26, 2017 3:31 PM
आप विधायक अलका लांबा।

दिल्ली एमसीडी चुनावों में करारी हार के बाद आम आदमी पार्टी की नेता अलका लांबा ने इस्तीफे की पेशकश की है। अलका लांबा चांदनी चौक से आम आदमी पार्टी की विधायक हैं। उन्होंने अपने क्षेत्र में हार की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए यह पेशकश की है। दिल्ली एमसीडी चुनावों में आप आदमी पार्टी को महज 46 वार्डों में बढ़त हासिल हुई है। बीजेपी ने तीनों कॉरपोरेशन में जीत हासिल करते हुए 180 सीटें जीती हैं। वहीं कांग्रेस को 31 सीटों पर बढ़त मिली है। बता दें कि चुनावों के रुझान आने के बाद आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवार के घर एक बैठक हुई थी, जिसमें उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय मौजूद थे। इस बैठक में ईवीएम मुद्दे पर चर्चा की गई थी। इसके बाद गोपाल राय ने हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा था और आरोप लगाते हुए कहा था कि यह ईवीएम लहर की जीत है।

इसके बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने एक के बाद एक तीन ट्वीट किये। मनीष सिसोदिया ने अपने पहले ट्वीट में लिखा कि, बीजेपी ने 2009 का लोकसभा चुनाव हारने के बाद पांच साल तक निरंतर ईवीएम पर रिसर्च किया और ईवीएम पर महारत हासिल की। मनीष सिसोदिया के मुताबिक बीजेपी इसी रिसर्च और महारत के दम पर चुनाव जीत रही है। मनीष सिसोदिया ने लिखा कि बीजेपी ने ईवीएम पर सिर्फ रिसर्च नहीं की बल्कि इनके नेता जीबीएल नरसिंहाराव व आडवाणी जी ने किताब भी लिखी, इनके नेता सुप्रीम कोर्ट भी गए थे। मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर ईवीएम टेम्परिंग का आरोप लगाया और कहा कि ईवीएम टेम्परिंग देश के लोकतंत्र की ऐसी कड़वी सच्चाई है जिसका शुरू में मज़ाक उड़ सकता है। लेकिन मज़ाक के डर से हम सच बोलना नहीं छोड़ सकते।

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ने कहा कि कोई वजह नहीं हो सकती कि दिल्ली के लोग बीजेपी को इतना बंपर बहुमत दें। मनीष सिसोदिया ने कहा कि बिना ईवीएम रिगिंग के ऐसा बहुमत संभव है ही नहीं। मनीष सिसोदिया ने कहा कि , बीजेपी की जीत पर यकीन किया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कूडा फैलाने वाली पार्टी, चिकनगुनिया फैलाने पार्टी की जीत पर सवाल उठने लाजिमी है।

दूसरी ओर बीजेपी ने चुनावों में इस बंपर जीत के लिए दिल्ली की जनता को धन्यवाद दिया और इसे सुकमा के शहीदों को समर्पित किया। पार्टी ने सुकमा हमले के कारण जीत का जश्न नहीं मनाने का फैसला किया है। वहीं कांग्रेस में भी उठापटक का दौर जारी है। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने भी हार की जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा, “हार की नैतिक जिम्मेदारी लेता हूं। एक साल तक कोई पद नहीं लूंगा। सालभर कार्यकर्ता की तरह रहूंगा।” अजय माकन ने कहा कि कांग्रेस ने वापसी की है लेकिन उन्हें और बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी। उन्होंने कहा कि इलेक्शन कमिशन को ईवीएम पर जांच करनी चाहिए। अगर हम ईवीएम पर भरोसा नहीं कर सकते तो चुनाव आयोग पर भरोसा करना होगा।

दिल्ली MCD चुनाव नतीजे 2017: बीजेपी, कांग्रेस और आप के लिए क्या हैं शुरुआती रुझानों के मायने, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 MCD चुनाव के नतीजों को लेकर बोलीं शीला दीक्षित, कहा- चुनाव हारने से कांग्रेस खत्म नहीं होने वाली, वह हिंदुस्तान की रुह है