ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में लापता हुए हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दोनों मौलवी सही-सलामत वापिस लौटे

पाकिस्तान में हाल ही में लापता हुए दो भारतीय मौलवी सही सलामत वापिस भारत लौट आए हैं।

पाकिस्तान में लापता हुए दोनों मौलवी वापस भारत लौटे। (Source: ANI)

पाकिस्तान में हाल ही में लापता हुए दो भारतीय मौलवी सही सलामत वापिस भारत लौट आए हैं। दोनों मौलवी सोमवार (20 मार्च) को वापिस भारत लौट आए और सबसे पहले हजरत निजामुद्दीन औलिया की दरगाह पहुंचे। बता दें कि दोनों उलेमा का पता, पाकिस्तान में बीते रविवार (19 मार्च) को चल गया था और आज दोनों वापिस लौट आए हैं। दोनों ने हजरत निजामुद्दीन दरगाह पर पहुंचकर दुआ की। वहीं दोनों मौलवियों की जल्द ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ मुलाकात होगी। बीते रविवार(19 मार्च) को सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि दोनों  मौलवियों का पता चल गया है और दोनों सुरक्षित हैं, उन्हें जल्द ही वापिस भारत लाया जाएगा।

मौलवी आसिफ निजामी और नाजिम निजामी दोनों ही हजरत निजामुद्दीन दरगाह के प्रमुख मौलवी हैं। दोनों ही 8 मार्च को पाकिस्तान गए थे। दोनों को लाहौर की मशहूर दाता दरबार दरगाह जाना था और फिर वहां से उन्हें कराची के लिए सफर तय करना था। इसके अलावा दोनों को अपने पाकिस्तान स्थित रिश्तेदारों से भी मिलना था। खबरों के मुताबिक, नाजिम लाहौर हवाई अड्डे से और आसिफ कराची हवाई अड्डा पहुंचने के बाद लापता हो गए थे। भारत ने पाकिस्तान सरकार के साथ यह मुद्दा उठाया था। नाजिम और आसिफ अपने रिश्तेदारों से मिलने और लाहौर की मशहूर दाता दरबार दरगाह जाने के लिए 8 मार्च को पाकिस्तान पहुंचे थे।

वहीं मौलवी नाजिम के पाकिस्तान स्थित रिश्तेदार वजीर निजामी ने एक्सप्रेस ग्रुप से बातचीत की थी। उन्होंने बताया था कि लाहौर एयरपोर्ट से उन्हें एक फोन कॉल आया था जिसमें उन्हें बताया गया कि उनके कजिन नाजिम के कागजात ठीक नहीं है जिसकी वजह से उन्हें एयरपोर्ट पर ही डिटेन किया जा रहा है। वजीर ने यह भी बताया था कि जब वह अपने चाचा आसिफ को लेने लाहौर एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्हें पता चला कि कुछ लोग पहले ही आसिफ को अपने साथ लेकर चले गए थे।

Next Stories
1 गुजरातः रिसाव के बाद बंद किए गए परमाणु रिक्टर , जा सकती थी लाखों लोगों की जान
2 सीसीटीवी में कैद हुई पुलिस की बेरहमी, अपनी ही गाड़ी से टक्कर मारने के बावजूद दो भाइयों को सड़क पर तड़पता छोड़ गई
3 गोरखपुर के मठ में कई मुस्लिम वर्षों से हैं योगी आदित्यनाथ के सहयोगी, जनता दरबार में भी रोज कराया जाता है अनेक मुसलमानों का काम
ये पढ़ा क्या?
X